!-- Facebook Pixel Code -->

माँ बर्गाभिमा मंदिर

परमेश्वर : कृष्णा

पता :Tamluk Srirampur Road, Tamluk, West Bengal 721636, India

इलाका / शहर / गांव:

राज्य : पश्चिम बंगाल

देश: इंडिया

पूजा समय | नक्शा

img

मंदिर के बारे में

तमलुक या तमरालिता वैष्णवों के लिए सबसे पवित्र और प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। ऐसा कहा जाता है कि यह स्थान भगवान कृष्ण के कमल चरणों का आशिर्वाद था पौराणिक कथाओं  के अनुसार प्राप्त मिलता है की  जब श्री कृष्ण स्वयं तमलुक आए थे और अश्वमेघ  यज्ञ के लिए घोड़ा तैयार किया था उसी समय से इस पवित्र स्थान पर  लोकोचार शक्ति पीठ शक्तियों के कारण भक्त जानो शनानियों/ शैवों के लिए पवित्र स्थान मान कर माँ बर्गाभिमा मंदिर का निर्माण किया। क्योंकि अश्वमेघ यज्ञ की  तैयारी के समय भगवान श्री कृष्ण जी ने माँ बर्गाभिमा का ध्यान किया था

मंदिर तक पहुँचने का मार्ग
यह खड़गपुर से 85 किमी दूर कोलकाता से लगभग 87.2 किमी दूर है, यह एनएच -6 और दक्षिण पूर्व रेलवे पटरियों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

वायु द्वारा
नेताजी सुभाष चंद्र बोस हवाई अड्डा निकटतम हवाई अड्डा है।

ट्रेन द्वारा
निकटतम रेलवे स्टेशन तमलुक है।

बस यान द्वारा
मंदिर तमलुक बस स्टैंड के पास स्थित है। इस जगह में सड़कों का एक अच्छी तरह से जुड़े सूचक यंत्र है  है।

इतिहास:

माँ बर्गाभिमा  का यह मंदिर  1150 साल पुराना हिंदू काली मंदिर है और इस मंदिर का निर्माण मयूर राजवंश के महाराजा द्वारा बनाया गया है। मध्य युग के इस्लामी कब्जे के बाद वर्तमान मंदिर का पुनर्निर्माण किया गया था। यह हिंदू, बौद्ध और उडिया के तीन सांस्कृतिक संयोजनों का मिश्रण है।

मंदिर में पत्थर की एक मूर्ति है जिसमें चार हाथ हैं जो ऊपरी हाथ में एक त्रिशूल धारण किये हुए हैं जिसमें मानव खोपड़ी और प्रदर्शन में सिर होता है।

पूजा समय

सोमवार-रविवार

प्रातः काल: 06:00  

सांय काल: 08:00

इतिहास

पूजा समय

दिन सुबह शाम
Monday-Sunday 06:00 Am 08:00 Pm

नक्शा

टिप्पणियाँ

संबंधित मंदिर


More Mantra × -
00:00 00:00