arkadaşlık sitesi porno adana escort izmir escort porn esenyurt escort ankara escort bahçeşehir escort इस्कॉन पुस्पासमधि मंदिर | इस्कॉन मंदिर मायापुर - भारतीय मंदिर !-- Facebook Pixel Code -->

इस्कॉन मंदिर, मायापुर

परमेश्वर : बाघेश्वरी

पता :Mayapur, Nadia, West Bengal 741313, India

इलाका / शहर / गांव:

राज्य : पश्चिम बंगाल

देश: इंडिया

पूजा समय | नक्शा

img

मंदिर के बारे में

पश्चिम बंगाल के नदोया जिले के मायापुर में स्थित इस्कॉन मंदिर भगवान श्रीकृष्ण को समर्पित प्रमुख मंदिरों में से एक है। पश्चिमी बंगाल अपने मायापुर नगरी के  शानदार मन्दिरों के लिए पूरे विश्व में जाना जाता है। मन्दिरों के अलावा पर्यटक यहां पर सारस्वत अद्वैत मठ और चैतन्य गौडिया मठ की यात्रा भी कर सकते हैं। होली के दिनों मे मायापुर की छटा देखने लायक होती है क्योंकि उस समय यहां पर भव्य रथयात्रा आयोजित की जाती है। यह रथयात्रा आपसी सौहार्द और भाईचारे का प्रतीक माना जाता है।

इस्कॉन मंदिर, मायापुर श्री नवदीप धाम में स्थित है, जो भगवान श्री चैतन्य महाप्रभु कृष्ण जी का धाम माना जाता है और इस मायापुर स्थान में दुनिया का सबसे बड़ा हरे कृष्णा समुदाय है। प्रत्येक अतिथि के अंदर कई गेस्टहाउस, रेस्तरां, दैनिक जरूरतों के लिए दुकानें, फार्मेसी और क्लिनिक हैं। हर साल, वैष्णव लोग बड़े ही धूमधाम और उत्साह के साथ भगवन श्री कृष्ण की पूजा करते हैं। विशेष उल्लेखों के बारे में गौरव नवनिवेश मंडल परिक्रमा और कार्तिक मेला जैसे गुरु पूर्णिमा उत्सव हैं जो हर साल हजारों - लाखों भक्तों को आकर्षित करते हैं।

इतिहास:-

इस्कॉन मायापुर मंदिर पश्चिमी बंगाल के 20 पवित्र स्थानों में से एक है, जो पूरे विश्व में लगभग 5 लाख से अधिक यात्रियों यानि भक्तों  को अपनी शरण में बुलाते हैं। इसी स्थान पर नए मायापुर चंद्रोदय मंदिर तैयार होने के बाद दुनिया भर में काली युग पवन श्री चैतन्य महाप्रभु की महिमा फैलाने के अवसर  यहाँ के ग्रामीण लोगों को मिला है। हम देख सकते हैं कि कैसे श्रीला प्रभुपाद ने अद्भुद ढंग से अपनी अपार लीला रच कर हर जगत प्राणी को प्रोत्साहित किया और अपने शिष्यों को इस अद्भुत सेवा को करने के लिए प्रेरित किया। और सभी जनों को बुजुर्गों द्वारा  इस नए मंदिर के बारे में हर विवरण दिया है और ईश्वर शक्ति द्वारा हर भक्त के लिए यह सफल मार्ग दिखने प्रयास किया है। आज भी इस मंदिर में कृष्ण जन्माष्टमी में लाखों लोगों की तादात में भगवन कृष्ण की लीला के दर्शन करने भक्त गण पहुँचते है

पूजा समय:-

सोमवार - रविवार

प्रातः काल:- 07:00

सांय काल:-   07:00

इतिहास

पूजा समय

दिन सुबह शाम
Monday-Sunday 07:00 Am 07:00 Pm

नक्शा

टिप्पणियाँ

संबंधित मंदिर


More Mantra × -
00:00 00:00