Home आध्यात्मिकता जानिये स्वतंत्रता दिवस से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य (ज्योतिषाचार्य सुनील बारमोला जी)...

जानिये स्वतंत्रता दिवस से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य (ज्योतिषाचार्य सुनील बारमोला जी) द्वारा

जानिये स्वतंत्रता दिवस से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य (ज्योतिषाचार्य सुनील बारमोला जी) द्वारा

 

15 अगस्त 1947 को हमारा भारत वर्ष वीर सपूतों द्वारा अंग्रेजों से मुक्त स्वतन्त्र हुआ था। इसीलिए हम इस दिन को स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) बड़े ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाते हैं। यह दिन हमारे देश में राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाया जाता है, तथा देशभर में अवकाश होता है। इस वर्ष हम अपने देश की स्वतंत्रता की 74 वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। इस दिन सभी देशवासी, स्वतंत्रता संग्राम के उन महान सेनानियों तथा राष्ट्रनायकों को श्रद्धापूर्वक याद करके श्रद्धांजलि देते हैं, जिन्होंने ब्रिटिश राज के विरोध में अपने जीवन की आहूतियां दी थी।

स्वतंत्रता दिवस की वर्षगांठ के मौके पर देशभक्ति से जुड़े पूर्ण आयोजन किए जाते हैं। हर व्यक्ति इसे अपने-अपने तौर-तरीके से मनाता है। देश भर के प्रकाशक, इस अवसर पर राष्ट्रीयता से ओतप्रोत विशेष परिशिष्टों का प्रकाशन करते हैं, जिनमें स्वतंत्रता दिवस के ऊपर विशेष खबरें रहती हैं।

स्वतंत्रता दिवस की संध्या पर राष्ट्रीय राजधानी तथा सभी शासकीय भवनों को रंग बिरंगी विद्युत सज्जा से सजाया जाता है, जो शाम का सबसे आकर्षक आयोजन होता है। देश के सभी राज्यों की राजधानी में इस अवसर पर विशेष झंडावंदन कार्यक्रम आयोजित किया जाता है, तथा राज्य के सुरक्षाबल राष्ट्रध्वज को सलामी देते हैं। प्रत्येक राज्य में प्रदेश के मुख्यमंत्री ध्वजारोहण करते हैं। स्थानीय प्रशासन, जिला प्रशासन, नगरीय निकायों, पंचायतों में भी इसी प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। शासकीय भवनों को आकर्षक पुष्पों से तिरंगे की तरह सजाया जाता है।

इस दिन सार्वजनिक क्षेत्रों में देशभक्ति गीत-संगीत बजाए जाते हैं। विद्यालयों, शासकीय कार्यालयों तथा सामुदायिक केंद्रों में राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया जाता है तथा सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

राष्ट्रीय स्तर पर आयोजन

देश के प्रथम नागरिक और देश के राष्ट्रपति स्वतंत्रता दिवस की पूर्वसंध्या पर ‘राष्ट्र के नाम संबोधन देते हैं’ अगले दिन यानी स्वतंत्रता दिवस की सुबह दिल्ली के ऐतिहासिक लाल किले पर प्रधानमंत्री राष्ट्रध्वज फहराते हैं, जिसे 21 तोपों की सलामी दी जाती है। इसके बाद प्रधानमंत्री देश को संबोधित के बाद स्कूली छात्र तथा राष्ट्रीय कैडेट कोर के सदस्य राष्ट्र गान गाते हैं।

लाल किले में आयोजित देशभक्ति से ओतप्रोत इस रंगारंग कार्यक्रम को देश के सार्वजनिक प्रसारण सेवा दूरदर्शन – बाहरी वेबसाइट, द्वारा देशभर में प्रसारित किया जाता है।

स्वतंत्रता दिवस की संध्या पर राष्ट्रीय राजधानी तथा सभी शासकीय भवनों को रंग बिरंगी विद्युत सज्जा से सजाया जाता है, जो शाम का सबसे आकर्षक आयोजन होता है। देश के सभी राज्यों की राजधानी में इस अवसर पर विशेष झंडावंदन कार्यक्रम आयोजित किया जाता है, तथा राज्य के सुरक्षाबल राष्ट्रध्वज को सलामी देते हैं। प्रत्येक राज्य में प्रदेश के मुख्यमंत्री ध्वजारोहण करते हैं। स्थानीय प्रशासन, जिला प्रशासन, नगरीय निकायों, पंचायतों में भी इसी प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। शासकीय भवनों को आकर्षक पुष्पों से तिरंगे की तरह सजाया जाता है।

पतंगोत्सव

15 अगस्त को देश का आकाश विभिन्न रंगों तथा आकार की पतंगों से भर जाता है। स्वतंत्रता दिवस के आयोजनों में पतंगोत्सव भी काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। इसे स्वतंत्रता के प्रतीक के रूप में उड़ाया जाता है। पतंग उड़ाने का यह उत्सव उत्तर भारत तथा मध्य भारत के कई स्थानों पर आयोजित किया जाता है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version