fbpx
सोमवार, सितम्बर 16, 2019
होम 2017 नवम्बर

मासिक आर्काइव: नवम्बर 2017

जनेऊ के पीछे का विज्ञान.. (Janaeu ke piche ka vigyan)

जनेऊ के पीछे का विज्ञान

सफ़ेद पवित्र धागे को जनेऊ कहते है जो एक पतली डोरी होती है जिसे ब्राहमण लड़के 12 वर्ष की आयु में पहुँचने के बाद...
ताम्बे को अपना मित्र बनायें और स्वस्थ रहें

ताम्बे को अपना मित्र बनायें और स्वस्थ रहें

बहुत वर्षों से भारत और विभिन्न अन्य एशियाई देशों के लोग ताम्बे के पात्र में रखें पानी को पीने के लाभ के बारे में...
सावित्री व्रत विशेष – सावित्री और सत्यवान की सच्ची प्रेमकथा

सावित्री व्रत विशेष – सावित्री और सत्यवान की सच्ची प्रेमकथा

सतयुग काल में, एक राजा और रानी (सावित्री और सत्यवान) थे जिनकी कोई संतान नही थी. बहुत प्रयास के बाद, वे एक शक्तिशाली ऋषि...
सबसे खुबसूरत स्त्री का जन्म – मोहिनी एकादशी (Mohini Ekadashi)

सबसे खुबसूरत स्त्री का जन्म – मोहिनी एकादशी

भगवान् विष्णु वास्तव में एक अत्यंत खुबसूरत स्त्री है – है! आश्चर्यजनक है लेकिन यही सत्य है. उनका नाम मोहिनी है. मोहिनी , बल्कि...
वट सावित्री व्रत कथा – सावित्री और सत्यवान की कथा का वर्णन

वट सावित्री व्रत कथा – सावित्री और सत्यवान की कथा का वर्णन

सावित्री और सत्यवान की प्रसिद्ध कहानी आज भी बहुतों द्वारा कही जाती है. युग बीत गये है लेकिन सावित्री जैसी समर्पित पत्नी आज भी...
पवित्र हिन्दू सूत्र (धागा) पहनने के लाभ

हिंदू पवित्र धागा पहनने के लाभ

हिंदु धर्म में यह धारणा है की बुराइयों तथा आपत्तियों से मुक्त होने के बहुत सारे रास्ते है. अगर आप पूर्ण हृदय और शक्ति...
आपके जीवन में नौ ग्रहों और उनकी भूमिकाएं

आपके जीवन में नौ ग्रहों और उनकी भूमिकाएं

नौ ग्रह , नवग्रह होते है जो आपके जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है. माना जाता है की इनकी स्थिति और चाल...
नरसिम्हा जयंती – आधे मानव , आधे भगवान् शेर.

नरसिम्हा जयंती – आधे मानव , आधे भगवान् शेर.

भगवान् नरसिम्हा को भगवान् विष्णु का सबसे अविश्वसनीय अवतार कहा जाता है. वह धरती पर इस अवतार में बुराई का नाश करने और अच्छाई...

दिवाली – छठे दिन – भैया दूज / यम द्वितीय

भैया दूज – जैसा की नाम से ही पता चल रहा “भाई” मतलब भाई और “दूज” मतलब दूसरा , अर्थात भाई और बहन के...
दिवाली – लक्ष्मी पूजा, दिवाली पूजा और बंगाली काली पूजा

दिवाली – लक्ष्मी पूजा, दिवाली पूजा और बंगाली काली पूजा

दिपावली दो शब्द “दीप” और “अवली” से आया है जिसका अर्थ है दीयों की एक क्रम या पंक्ति. 2017 में दिवाली 19 अक्टूबर को...
Instant Muhurat

हाल के पोस्ट