दीप पूजन के दिन कैसे करें धन और यश पाने के लिए माँ लक्ष्मीजी की पूजा

माँ लक्ष्मीजी की पूजा

हिन्दू धर्म में दीपावली पर्व एक ऐसा पर्व है जो अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाने में व्यक्ति को प्रोत्साहित करती हैl दीपवाली के दिन दीपदान के साथ माँ लक्ष्मी की विशेष पूजा-अर्चना की जाती है। इस दिन मां लक्ष्मी अपने भक्तों की धन से जुड़ी हर तरह की समस्याएं दूर करती हैंl

दीप पूजन के दिन लक्ष्मी पूजा

इतना ही नहीं, देवी साधकों को यश और कीर्ति भी देती हैं अपने भक्तों पर कृपा करती हैं। मां लक्ष्मी अपने भक्तों की धन से जुड़ी हर तरह की समस्याएं दूर करती हैं। इतना ही नहीं, देवी साधकों को यश और कीर्ति भी देती हैं।

सर्वप्रथम जानते हैं मां लक्ष्मी जी महिमा

मां लक्ष्मी जी को धन और संपत्ति की देवी कही जाती है पौराणिक कथाओं के अनुसार माना जाता है कि समुद्र से इनका जन्म हुआ और इन्होंने श्रीविष्णु से विवाह किया इनकी पूजा से धन की प्राप्ति होती है, साथ ही वैभव भी मिलता है। अगर लक्ष्मी रुष्ट हो जाएं, तो घोर दरिद्रता का सामना करना पड़ता है ज्योतिष में शुक्र ग्रह से इनका सम्बन्ध जोड़ा जाता है।

दीप पूजन के दिन माँ लक्ष्मी की उपासना से जुड़े कुछ नियम

दीपपूजन

  • दीप पूजन के दिन मां लक्ष्मीजी के समक्ष घी के तीन दीपक जलाएं व मां लक्ष्मी को एक गुलाब का फूल अर्पित करें।
  • उसी गुलाब को अपने धन वाली जगह पर रख दें। रोज इस गुलाब को बदल दें।
  • मां लक्ष्मी की पूजा सफेद या गुलाबी वस्त्र पहनकर करनी चाहिए।
  • दीप पूजन के दिन मां लक्ष्मी की पूजा का उत्तम समय मध्य रात्रि होता है। या सांय काल का शुभ मुहूर्त देखा जाता है।
  • मां लक्ष्मी के उस प्रतिमा की पूजा करनी चाहिए, जिसमें वह गुलाबी कमल के पुष्प पर बैठी हों। साथ ही उनके हाथों से धन बरस रहा हो।
  • दीप पूजन के दिन मां लक्ष्मी को गुलाबी पुष्प, विशेषकर कमल चढ़ाना सर्वोत्तम रहता है।
  • दीप पूजन के दिन यदि कोई भी जातक मां लक्ष्मी के मन्त्रों का जाप स्फटिक की माला से करता है उस जातक को यश और धन की प्राप्ति होती है।
  • धन प्राप्ति के लिए दीप पूजन यानि दीवाली के दिन मां लक्ष्मी के उस स्वरूप की पूजा करनी चाहिए जिस प्रतिमा में उनके हाथों से धन गिर रहा हो।

ये भी पढ़िए : इस दिवाली कैसे करें लक्ष्मी पूजा तथा जानें लक्ष्मी पूजा का महत्व

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here