जानिये घर में लानी है खुशहाली तो किस दिशा में बनाएं मंदिर

जानिये घर में लानी है खुशहाली तो किस दिशा में बनाएं मंदिर Home Temple Vastu

भारतीय ज्योतिष शास्त्र का मुख्य अंग वास्तु शास्त्र सदैव अपनी वास्तु कला में निपुर्ण व भूमि-भवन के निर्माण के लिए सदैव तत्पर रहा है भारतीय ज्योतिष गणना के अनुसार वास्तु अपने में एक तेजोमयी शक्ति लेकर प्रकृति व मानव जीवन का सदैव सहायक रहा है। जिस प्रकार ज्योतिष अपने आप में एक स्वतंत्र व पूरे विश्व की चल-विचल जैसी तीक्ष्ण शक्ति की गणना को ले कर ज्ञान के सागर में निपूर्ण है। ठीक उसी प्रकार वास्तु भी अपनी वास्तु कला को लेकर मानव जगत के लिए फल दायी रहा है।

प्राचीन काल से देखा जाय तो हर व्यक्ति बिना वास्तु ज्ञान के अपने नूतन कार्य का निर्माण नहीं करते थे। चाहे घर हो या घर का एक छोटा सा हिस्सा रसोई घर क्यों न हो पर बिना वास्तु के नूतन कार्य का निर्माण नहीं करते थे। क्योंकि बिना दिशा ज्ञान के किसी भी चीज का निर्माण करना वह अशुभ फल दायी होता था और व्यक्ति को वहां पर हर दिन कुछ न कुछ परेशानियां उठानी पड़ती थी।  वर्तमान समय में देखा जाय तो हर व्यक्ति वास्तु शास्त्र को भूलता जा रहा है और अपने अनुसार मनचाहा भूमि-भवन व ऑफिस कार्यालय का निर्माण कर लेता है और कुछ दिनों बाद परेशानियों से घिर जाता है।  उसके बाद वह जातक दर-दर भटकने लग जाता है और उसका मन वहां से दूर जाने के लिए बार- बार उत्तेजित होता रहता है।

आपको पसंद आ सकता है: आपका मासिक राशिफल

वास्तु के अनुसार बनाये इस दिशा में घर का मंदिर

आज हम बात करते हैं घर के अंदर किस दिशा में मंदिर बनाने से घर में आ सकती है खुशहाली – यदि कोई भी जातक यदि घर में मंदिर को स्थापित करना चाहता है तो उसको विशेष ध्यान देना चाहिए की उसको किस दिशा की ओर मंदिर बनाना है। क्योंकि वास्तु में दिशा का बहुत बड़ा स्थान है जिस प्रकार ज्योतिष में ग्रहों का स्थान सर्वोपरि है ठीक उसी प्रकार वास्तुशास्त्र में दिशाओं का विशेष महत्व है। यदि कोई भी जातक घर में मंदिर बना रहा है तो वह उत्तर या पूर्व दिशा में अपने घर का मंदिर बनायें। ऐसा करने से जातक के घर में सदैव खुशहाली व धन-दौलत की वर्षात तथा परिवार के सभी सदस्य एक अच्छा जीवन यापन करते हैं और समाज के साथ सदैव अग्रसर रह्ते है।

पूजा करते हुए हमेशा मुख पूर्व की तरफ़ होना चाहिए ऐसा करने से घर में धन आता है और समृद्धि का वास होता है वहीँ अगर आप अभी पढ़ाई कर रहे हैं तो उत्तर दिशा की तरफ़ मुख करके अध्ययन करें।

वास्तु के अनुसार घर में मंदिर बनाने के होते हैं ये फायदे

  • घर के उत्तर दिशा में बना हुआ मंदिर घर के वास्तु दोष को कर देता है दूर ।
  • पूर्व व् उत्तर दिशा में बना हुआ मंदिर घर के नकारात्मक ऊर्जा को दूर कर देता है।
  • पूर्व व उत्तर दिशा में बना हुआ मंदिर व्यक्ति को बना देता है व्यक्ति को महा धनवान।
  • वास्तु के अनुसार बना हुआ घर में मंदिर बना देता है व्यक्ति को।
  • वास्तु के अनुसार घर में बनाया गया मंदिर बदल सकता है आपकी किस्मत को।

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here