भगवान शिव पर आधारित कार्तिगाई दीपम कथा महत्व

भगवान शिव पर आधारित कार्तिगाई दीपम कथा महत्व - Kartigai Deepam Lord Shiv

भगवान शिव पर आधारित कार्तिगाई दीपम कथा महत्व

भरतीय धार्मिक ग्रंथों के अनुसार कार्तिगाई दीपम पर्व को विशेष रूप से भारत वर्ष के दक्षिण भारत में तमिल पंचांग के अनुसार वर्ष के प्रत्येक माह में मासिक कार्तिगाई मनाया जाता है। कार्तिगाई दीपम पर्व को दक्षिण भारत के तमिलनाडु राज्य में हिन्दू धर्म के लोग मनाते है। यह पर्व दक्षिण भारत में मनाये जाने वाले पर्वों में सबसे प्रचीन पर्व है। यह कार्तिगाई दीपम वर्ष के प्रत्येक माह में मनाया जाता है। इस मासिक कार्तिगाई दीपम के अवसर पर लोग सूर्य अस्त के बाद घरों में और आस-पास के पवित्र व पूजनीय स्थलों पर तिल व घी के दीपक एक पंक्ति बद्ध में जलाते है। कृत्तिका नक्षत्र के नाम पर कार्तिगाई दीपम का नाम रखा गया है। विद्वानों के अनुसार जिस दिन कृत्तिका नक्षत्र अति प्रबल होता है उसी दिन कार्तिगाई दीपम पर्व बड़े ही उल्लास के साथ मनाया जाता है। लोक मान्यताओं के अनुसार इस पर्व का महत्व व फल मानव जगत व लोक कल्याण के लिए बहुत ही प्रभावशील व लाभ दायक है।

क्यों है कार्तिगाई दीपम  पर्व कथा विशेष –

पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान आशुतोष शिव शंकर के सम्मान में कार्तिगाई दीपम का पर्व दक्षिण भारत में बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है। प्राचीन कथाओं के अनुसार इस दिन भगवान शिव ने भगवान विष्णु और ब्रह्मा के समक्ष अपनी श्रेष्ठता सिद्ध करने के लिए स्वंय को प्रकाश की ज्योत में बदल लिया था। हालांकि, मासिक कार्तिगाई दीपम वर्ष के प्रत्येक माह में मनाया जाता है लेकिन मुख्य कार्तिगाई दीपम पर्व कार्तिक माह में पड़ता है। मासिक कार्तिगाई दीपम वर्ष के प्रत्येक माह में मनाया जाता है। तिरुवन्नामलई की पहाड़ी में कार्तिगाई दीपम का पर्व बहुत प्रसिद्ध है इस दिन पहाड़ी पर विशाल दीपक जलाया जाता है जो दूर तक दिखाई देता है। इस दीपक को भक्त गण महादीपम् के नाम से पुकारते हैं। इस दिन तिरुवन्नामलई की पहाड़ी पर बड़े तादात में भक्तगण आते है और भगवान आशुतोष भोले की पूजा कर उनसे अपने कुटुंब परिवार की सुख और शांति की प्रार्थना करते है और भगवान शिव की कृपा से व्रती की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है। इस प्रकार मासिक कार्तिगाई की कथा सम्पन्न होती है। यदि आप इस लेख से जुड़ी अधिक जानकारी चाहते हैं या आप अपने जीवन से जुड़ी किसी भी समस्या से वंचित या परेशान हैं तो आप नीचे दिये गये लिंक पर क्लिक कर हमारे ज्योतिशाचार्यो से जुड़ कर अपनी हर समस्याओं का समाधान प्राप्त कर अपना भौतिक जीवन सुखमय बना सकते हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here