fbpx
होममंत्र५ विशेष सूर्य मंत्र: अपनी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करने के लिए करें...

५ विशेष सूर्य मंत्र: अपनी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करने के लिए करें जाप

हिन्दु धर्म में वैसे तो सभी दिन भगवान के होते है। लेकिन रविवार का दिन सूर्य देव का होता है। सूर्य मंत्र हर दिन जाप करना चाहिए। लेकिन रविवार के दिन सूर्य मंत्र का जाप करना बहुत ही लाभदायक होता है। माना जाता है कि जो लोग सच्चे मन से पूरे विधि विधान के साथ पूजा करते है और इनके मंत्र को जाप करता है, तो उनका कल्याण जरूर होता है।

सूर्य मंत्र एक शक्तिशाली मंत्र है जो सकारात्मक ऊर्जा, आंतरिक शांति देता है और शरीर को मजबूत करता है। सूर्य मंत्रों का पूर्ण विश्वास और भक्ति के साथ जाप करने से हमें जीवन में प्रसिद्धि और सफलता प्राप्त करने में मदद मिलती है।

5 महत्वपूर्ण सूर्य मंत्र और उनके लाभ

सूर्योदय से पहले उठकर स्नान से निवृत्त होकर, सूर्य देव को जल अर्पित करें और सूर्य मंत्र का जाप करें। अपनी सभी मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए इन सूर्य मंत्रों का 108 बार जाप करना आवश्यक है। ५ मूल सूर्य मंत्रों की सूची कुछ इस प्रकार है – सूर्य वैदिक मंत्र, सूर्य तंत्रोक्त मंत्र, सूर्य नाम मंत्र, सूर्य पौराणिक मंत्र, और सूर्य गायत्री मंत्र। आइए जानते हैं इन मंत्रों और उनके फायदों के बारे में।

सूर्य वैदिक मंत्र

सूर्य वैदिक मंत्र

ऊँ आकृष्णेन रजसा वर्तमानो निवेशयन्नमृतं मर्त्यण्च ।
हिरण्य़येन सविता रथेन देवो याति भुवनानि पश्यन ।।

मंत्र के लाभ: सूर्य देव के इस मंत्र के जाप से आपके सारे बिगड़े काम बन जाएंगे। साथ ही आपके भीतर एक नई ऊर्जा का संचार होगा और आप सफलता के मार्ग पर बढ़ने लगेंगे।

सूर्य तंत्रोक्त मंत्र

सूर्य तंत्रोक्त मंत्र

ऊँ घृणि: सूर्यादित्योम, ऊँ घृणि: सूर्य आदित्य श्री,
ऊँ ह्रां ह्रीं ह्रौं स: सूर्याय: नम:, ऊँ ह्रीं ह्रीं सूर्याय नम:!

मंत्र के लाभ: सूर्य देव के इस मंत्र के जाप करने से आपकी पर्सनालिटी अच्छी बनी रहेगी। इस मंत्र के साथ पूजा करने से सफलता, मानसिक शांति तो प्राप्‍त होती ही है साथ ही अच्‍छी सेहत का भी बनी रहती है।

सूर्य नाम मंत्र

सूर्य नाम मंत्र

ऊँ घृणि सूर्याय नम:

मंत्र के लाभ: सूर्य देव के इस मंत्र के जाप करने से आपके ऊपर हमेशा सूर्य देव की कृपा बनी रहेगी। उनके आशीर्वाद से सभी कार्य पूरे होंगे। 

सूर्य पौराणिक मंत्र

सूर्य पौराणिक मंत्र

जपाकुसुम संकाशं काश्यपेयं महाद्युतिम।
तमोअरिं सर्वपापघ्नं प्रणतोअस्मि दिवाकरम।।

मंत्र के लाभ: सूर्य देव के इस मंत्र के जाप करने से आपके जीवन में खुशियां आएंगी। और जिसके पास पैसों की कमी हो वो लोग भी इस मंत्र का जाप कर सकते हैं। जो व्यक्ति हर रोज उगते सूर्य को श्रद्धा पूर्वक अर्घ्य अर्पित करते हैं, उनका जीवन सूर्य देव से प्रार्थना भी करते रहे की वे आपकी सभी कामनाएं पूरी कर दें​।

सूर्य गायत्री मंत्र

सूर्य गायत्री मंत्र

ऊँ आदित्याय विदमहे दिवाकराय धीमहि तन्न: सूर्य: प्रचोदयात

मंत्र के लाभ: आपके मान सम्मान को आगे बढ़ने के लिए इस सूर्य मंत्र का जाप किया जाता है। आपको इसके सकारात्मक परिणाम जरूर मिलेंगे। इसके इलावा गुड़ या गुड़ से बनी मिठाई का भोग सूर्य देव को लगा सकते है और साथ ही गाय को भी गुड़ से बनी मिठाई खिलाएं। इससे आपकी अच्छी नौकरी पाने की मनोकामना अवश्य पूरी होगी।

आप इसे पढ़ना भी पसंद कर सकते हैं: रुद्राक्ष मंत्रों के साथ रूद्राक्ष का महत्व और लाभ

सूर्य देव के अन्य मंत्र

  • अगर व्यक्ति असाध्य रोगों से परेशान है तो उसे सूर्य देव के इस मंत्र का जाप करना चाहिए।
ऊँ हृां हृीं सः सूर्याय नम

ऊँ हृां हृीं सः सूर्याय नमः।।

  • अगर व्यवसाय यश और मान-सम्मान में वृद्धि नहीं हो रही है तो सूर्य देव के इस मंत्र का जाप करना फायदेमंद होता है।
ऊँ घृणिः सूर्य आदिव्योम

ऊँ घृणिः सूर्य आदिव्योम।।

सूर्य देव को आरोग्य का देवता माना जाता है। सूर्य देव के मंत्रों का जाप शुक्लपक्ष के रविवार के दिन से शुरू करना चाहिए। व्यक्ति इन मन्त्रों का जाप अपनी सुविधा के अनुसार ख़त्म कर सकता है। सूर्य देव की पूजा-अर्चना पूरे विधि-विधान से करके जीवन में सफलता और मानसिक शांति पायी जा सकती है। आज हम आपको सूर्य देव की पूजा के दौरान जपने वाले कुछ महत्वपूर्ण मन्त्रों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके जाप के बाद आप जीवन में सफलता प्राप्त करना शुरू कर देंगे। और इसके साथ-साथ आप खुशहाल जीवन बिताने लगेंगें। 

Rgyan Adminhttps://rgyan.com
""ज्योतिष क्षेत्र में चल रहे 20 वर्षों के अनुभव के साथ""

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

लोकप्रिय

ताज़ा लेख