हर्ष और उल्लास के साथ क्यों मनाया जाता है मार्गशीष माह में विवाह पंचमी का पर्व

क्यों मनाया जाता है विवाह पंचमी का पर्व - Vivah Panchami Vrat Katha, Date

हर्ष और उल्लास के साथ क्यों मनाया जाता है मार्गशीष माह में विवाह पंचमी का पर्व

भारतीय धर्म ग्रंथों के अनुसार मार्गशीर्ष मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी को भगवान श्रीराम तथा जनकपुत्री माँ जानकी (सीता) का विवाह हुआ था। तभी से इस पंचमी को विवाह पंचमी पर्व से जाना जाता है। जो कि इस वर्ष 12 दिसंबर 2018 मनाया जाता है।

विवाहपंचमी का उत्सव भारत वर्ष में ही नहीं अपितु और नेपाल जैसे अन्य देशों में भी सदियों से  यह पर्व बड़े ही धूम-धाम से मनाया जाता है। विवाह पंचमी के दिन नेपाल देश के जनकपुर स्थान में यह पर्व बड़े ही हर्ष और उल्लास के साथ आयोजित किया जाता है। सांस्कृतिक दृष्टि से देखा जाय तो जिन कन्या-परुष का विवाह नहीं होता है तो कुंडली में बने दोष को दूर करने के लिए इस दिन वह जातक तुलसी के वृक्ष से विवाह कर कुंडली में बन रहे दोष को दूर करते हैं।

इस दिन यदि कोई भी जातक भगवन राम और सीता माँ के दर्शन के लिए जनकपुर जाता है तो उसकी सभी मनोकामना पूर्ण हो कर अपने दाम्पत्य जीवन को सुख-समृद्धि से व्यतीत करता है। मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम-सीता के शुभ विवाह के कारण ही यह दिन (विवाह पंचमी) अत्यंत पवित्र माना जाता है। जिस प्रकार प्रभु श्रीराम ने सदा मर्यादा पालन करके पुरुषोत्तम का पद पाया, उसी तरह माता सीता ने सारे संसार के समक्ष पतिव्रता स्त्री होने का सर्वोपरि स्थान प्राप्त किया।

इस परम पवित्र पावन दिन पर सभी को राम-सीता की आराधना करते हुए अपने सुखी दाम्पत्य जीवन के लिए प्रभु से आशीर्वाद प्राप्त करना चाहिए। नेपाल में स्थित जनकपुर शहर की परंपरा और संस्कृति के लिए प्रसिद्ध मानी जाती है। जो आज भी अपने सौंदर्य के लिए प्रसिद्ध है।

विवाह में यदि परेशानियां आ रही है तो करें विवाह पंचमी के दिन यह उपाय –

1- इस दिन भगवान राम और माता सीता की संयुक्त रूप से उपासना करने से विवाह होने में आ रही बाधाओं का नाश होता है।

2- इस दिन बालकाण्ड में भगवान राम और सीता जी के विवाह प्रसंग का पाठ करना शुभ होता है और विवाह जैसी बाधाएँ दूर हो जाती है।

3- विवाह पंचमी के दिन सम्पूर्ण रामचरित-मानस का पाठ करने से भी पारिवारिक जीवन सुखमय होता है।

यदि आप भी विवाह या अन्य किसी परेशानी से जूझ रहे है तो क्लिक करें और पाएं सभी समस्या का समाधान घर बैठे

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here