fbpx
होमस्वास्थ्यप्रतिदिन करे ये 5 चेहरे के योग और रहे फेस बीमारियों से...

प्रतिदिन करे ये 5 चेहरे के योग और रहे फेस बीमारियों से दूर – फेस योग

आज कल आपने देखा ही होगा की सभी अपने चेहरे को लेकर बहुत परेशान होते है। खास कर महिलाएं अपना चेहरा अच्छा दिखाने के लिए कितना कुछ करती हैं। जैसे की कुछ महिलाएं हल्दी का पेस्ट चेहरे पर लगा कर अपने चेहरे को स्वस्छ रखती है। तो कोई फेशियल क्रीम लगा कर स्वस्छ रखती है। परंतु उपायों की ओर जाने से पहले हमें त्वचा की समस्याओं के बारे में जानना होगा। जैसे झुर्रियां और काले धब्बे आदि के कारण। आपके त्वचा और चेहरे में प्राकृतिक निखार को सही रखने के लिए फेस योग बहुत जरूरी है। चेहरे के योग करने से फेस में रक्त संचार बेहतर होता है और इससे आपके चेहरे की मांसपेशियां रिलैक्स होती है और उनमें कसाव भी आता है। साथ ही चेहरा खिला-खिला रहता है और त्वचा पर बढ़ती उम्र का असर भी कम हो जाते हैं।

फेस योगा – घर पर करने के लिए 5 व्यायाम

फेस योगा करने से बहुत सारे लाभ मिलते है जैसे चेहरे में रक्त संचार बेहतर होता है, त्वचा की चमक बढ़ती है और उनमें कसाव भी आता है। नीचे 5 फेस योग की सूची दी गई है जिसके बारे में हम विस्तार से चर्चा करेंगे जो आपके चेहरे की चमक को बरक़रार रखने मै मदद करेंगे।

  1. सिम्हा मुद्रा
  2. जीभ बाधा
  3. जालंधर बंध (चिन लॉक)
  4. फिश फेस
  5. माउथवॉश तकनीक

सिम्हा मुद्रा

सिम्हा मुद्रा फेस योग

सबसे पहले जमीन पर सुखासन की स्थिति में बैठ जाएं। उसके बाद अपने दोनों हाथों को अपने घुटनों के ऊपर रखकर अपने मुंह को अच्छे से खोलें और अपने जीभ को बाहर नीचे की तरफ लाएं। इसके बाद चेहरे की मांसपेशियों पर दबाव डालते हुए जीभ निकाल कर शेर की तरह दहाड़ लगाएं, जैसे शेर दहाड़ लगाते वक्त मुंह को खोलता है। इसी अवस्था में कुछ मिनट रहने के बाद धीरे-धीरे सामान्य हो जाएं और नियमित रूप से इसका अभ्यास करते रहें।

सिम्हा मुद्रा योग के फायदे

  1. सिम्हा मुद्रा से आपके चेहरे की सभी मांसपेशियों में कसावट आ जाती है।
  2. यह चेहरे के लिए सबसे अच्छे आसनों में से एक है।
  3. शरीर के विभिन्न भागों जैसे चेहरा, आंख, कान, जीभ, गले, छाती और अंगुलियों को लाभ मिलता है।
  4. तनाव कम करता है। 

जीभ बाधा योग

जीभ बाधा फेस योग

सबसे पहले जमीन पर एक मैट या साफ चादर बिछा लें। उसके बाद आप पद्मासन या सुखासन की मुद्रा में बैठ जाएं और अपने दोनों हाथों को अपने घुटनों पर रख लें। इसके बाद आंखों को बंद करके अपने मुंह को खोलें और अपने जीभ को तालु पर लगा लें। फिर अपनी जीभ को आप जितने खिंचाव के साथ तालु पर चिपकाएंगे उसका उतना ही प्रभाव आपके चेहरे की मांसपेशियों पर पड़ेगा। जीभ को तालु पर थोड़ी देर तक चिपकाकर रखें और फिर मूल अवस्था में आ जाएं। उसके बाद कुछ सेकंड का आराम करें और दो से तीन बार इस प्रक्रिया को दोहराएं। इस योग को करते वक्त सामान्य तरीके से सांस लेते रहें। और यह फेस योग आप रोजाना सुबह करें। आपके फेस के लिए यह योग बहुत फायदेमंद है।

जीभ बाधा योग के फायदे

  1. जीभ बाधा योग करने से चेहरे की मांसपेशियाँ सुचारू रूप से कार्य करती हैं।
  2. साथ ही  भी सही बना रहता है।
  3. यह फेस योग आपके जबड़े को आकार देता है और आपके चेहरे की मांसपेशियों को टोन करने में मदद करता है।

जालंधर बंध (चिन लॉक)

जालंधर बंध (चिन लॉक) फेस योग

सबसे पहले जमीन मैट या चादर बिछाकर पद्मासन या सुखासन की मुद्रा में बैठ जाएं और खुद को रिलैक्स करने के लिए गहरी सांस लेकर छोड़ दें। इसके बाद अपने शरीर को सीधा रखें और हथेलियाें को घुटनों पर रखकर कोहनियों को सीधा रखें। फिर लंबी गहरी सांस लेकर कंधों को ऊपर की ओर उठाएं। इसके बाद पीठ को सीधा रखते हुए शरीर को हल्का-सा आगे की ओर झुकाएं। अब गर्दन को आगे की ओर करते हुए ठोड्डी को छाती पर टिकाकर बंध लगाएं। उसके कुछ सेकंड इसी अवस्था में सांस रोक कर रहें, फिर मूल अवस्था में धीरे-धीरे लौट आएं। इस प्रक्रिया को दो से चार बार करें।

जालंधर बंध के फायदे

  1. जालंधर बांध आपके चेहरे को आकार देता है और आपके चेहरे व जबड़े की मांसपेशियों के लिए असरदार रहता है।
  2. मन में दृढ़ता आती है।
  3. गर्दन की मांसपेशियों में रक्त संचार सही ढंग से होने लगता है।
  4. इसे नियमित रुप से करने से हमारे सिर, मस्तिष्क, आंख, नाक आदि का संचालन नियंत्रित रहता है।
  5. इस योगासन से डबल चिन वाले लोगों को काफी लाभ हो सकता है।

फिश फेस

फिश फेस योग

पहले आप योग मैट या चादर पर पद्मासन की मुद्रा में बैठ जाएं। फिर आंखों को बंद कर लें। अब अपने गालों और होंठों को अंदर की ओर चूसें और मछली की तरह अपने मुंह को आकार दें। उसके बाद कुछ सेकंड के लिए ऐसे करें और फिर मुस्कुराएं। इस योग प्रक्रिया को दो से तीन बार दोहराएं।

फिश फेस के फायदे

  1. आपके गालों की मांसपेशियों को टोन करता है।
  2. यह आपके चेहरे को पतला करने में मदद करता है।
  3. यह आपके गाल की मांसपेशियों को फैलाता है।

माउथवॉश तकनीक

माउथवॉश तकनीक फेस योग

यह योग आपके लिए बहुत ही आसान है और आप कभी भी बैठे-बैठे इसे कर सकते हैं। जैसे आप मुंह में पानी भरकर कुल्ला करते हैं, उसी तरह मुंह में हवा भर के गालों को हिलाएं। जब आप थक जाएं, तो थोड़े देर का आराम करें और इस प्रक्रिया फिर से दो-तीन बार दोहराएं।

माउथवॉश तकनीक के फायदे

  1. माउथवॉश में सेटिल्पायरिडिनियम क्लोराइड होता है जो बदबू पैदा करने वाले बैक्टिरीया को निष्क्रिय कर देता है और मार देता है।
  2. यह चेहरे से अतिरिक्त फैट को हटाती है।
  3. साथ ही यह डबल चिन की समस्या को भी दूर करती है।
  4. माउथवॉश मुंह की बदबू को खत्म करने का जरिया है, लेकिन तभी जब इसकी वजह ओरल केविटी तक सीमित हो।
  5. गेस्ट्रोएसोफेगियल रिफ्लक्स जैसी बीमारी की वजह से सांस में बदबू केवल माउथवॉश के इस्तेमाल से नहीं रोकी जा सकती। इसके लिए डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है।
Rgyan Adminhttps://rgyan.com
""ज्योतिष क्षेत्र में चल रहे 20 वर्षों के अनुभव के साथ""

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

लोकप्रिय

ताज़ा लेख