कोरोना वायरस: कोरोना की वजह से तिरुपति बालाजी के दर्शन होंगे बंद…

कोरोना वायरस के चलते तिरुपति बालाजी मंदिर बंद

कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए भीड़ भाड़ कम करने के उद्देश्य से तिरुपति बालाजी मंदिर को कल दोपहर से तात्कालिक तौर पर दर्शन के लिए बंद किया जा रहा है। इससे पहले शिरडी के साईं बाबा संस्थान औऱ वैष्णों देवी धाम को भी भक्तों के लिए बंद कर दिया गया है। मुंबई का विश्व प्रसिद्ध सिद्धिविनायक मंदिर भी भक्तों के लिए बंद किया जा चुका है।

कोरोना वायरस: इम्यूनिटी सिस्टम को करना है मजबूत तो आपको करना होगा अपनी डाइट में शामिल...

खबर के मुताबिक विश्व विख्यात तिरुपति बालाजी मंदिर को भक्तों के दर्शन के लिए कल दोपहर से बंद किया जा रहा है। आज से ही तिरुमला पहाड़ पर वाहन से और पैदल चलने वाले दोनों रास्तों को बंद कर दिया गया, वहाँ मौजूद भक्तों को कल सुबह तक पहाड़ से नीचे तिरुपति भेज दिया जाएगा। हाल ही में आंध्रप्रदेश के तिरुपति बालाजी मंदिर में श्रद्धालुओं से टोकन लेकर दर्शन करने की अपील कई थी। हमेशा भक्तों से भरे रहने वाले शिरडी के साईं बाबा संस्थान ट्रस्ट ने भी भक्तों से मंदिर में कुछ समय के लिए ना आने की अपील की है। वहीं श्री माता वैष्णो देवी बोर्ड ने भी भक्तों से 28 दिन तक मंदिर नहीं आने को कहा है। 

न्यूज एजेंसी एएनआई ने ट्वीट करके श्री साईं बाबा संस्थान ट्रस्ट शिरडी के एग्जिक्यूटिव अरुण डोंगरे का स्टेटमेंट ट्वीट किया है। जिसमें डोंगरे ने कहा है कि सरकार के निर्देशों के मुताबिक मैं श्रद्धालुओं से विनती करता हूं कि वे कुछ समय के लिए अपनी शिरडी यात्रा स्थगित कर दें।

वहीं श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड (एसएमवीडीएसबी) ने परामर्श जारी करते हुए कहा है कि प्रवासी भारतीय और विदेश भारत आने के 28 दिन तक मंदिर में दर्शन के लिए ना आएं। वहीं भारत में रहने वाले लोग जिन्हें सर्दी, जुकाम, बुखार, खांसी आदि है वो अपनी यात्रा स्थगित कर दें। कटरा से मां के भवन के रास्ते में लगे लाउडस्पीकर्स से कोरोना वायरस को लेकर जानकारी प्रसारित की जा रही है। जो श्रद्धालु दर्शन के लिए आ रहे हैं उनकी ताराकोट, बाणगंगा और हेलीपैड पर फीवर की जांच की जा रही है। 

वहीं श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड (एसएमवीडीएसबी) ने परामर्श जारी करते हुए कहा है कि प्रवासी भारतीय और विदेश भारत आने के 28 दिन तक मंदिर में दर्शन के लिए ना आएं। वहीं भारत में रहने वाले लोग जिन्हें सर्दी, जुकाम, बुखार, खांसी आदि है वो अपनी यात्रा स्थगित कर दें। कटरा से मां के भवन के रास्ते में लगे लाउडस्पीकर्स से कोरोना वायरस को लेकर जानकारी प्रसारित की जा रही है। जो श्रद्धालु दर्शन के लिए आ रहे हैं उनकी ताराकोट, बाणगंगा और हेलीपैड पर फीवर की जांच की जा रही है। 

a