अक्षय तृतीया 2020 : लॉकडाउन में नहीं खरीद सकते सोना तो अक्षय तृतीया पर ऐसे करें शुभ शगुन

लॉकडाउन में कैसे मनाएं अक्षय तृतीया

अक्षय तृतीया का पर्व इस बार ऐसे समय में पड़ रहा है जब पूरा देश लॉकडाउन में बंद है। केवल जरूरी चीजों के अलावा इस वक्‍त कुछ भी खरीद पाना संभव नहीं है। अक्षय तृतीया पर सोने की खरीदारी का सर्वाधि‍क महत्‍व होता है और ऐसा माना जाता है कि इस दिन सोना खरीदने से आपके घर में धन की कभी कमी नहीं होती। लेकिन इस बार आपके लिए सोना खरीद पाना संभव नहीं है। इसमें चिंता की कोई बात नहीं है। अक्षय तृतीया पर आप दान करके भी अक्षय फल की प्राप्ति कर सकते हैं। ऐसा कहा जाता है कि इस दिन किया गया दान भी आपको अक्षय फल के रूप में वापस होकर मिलता है। आइए जानते हैं लॉकडाउन के बीच कैसे मनाएं अक्षय तृतीया।

यह भी पढ़े: अक्षय तृतीया पर इन टोटकों से घर लाएं धन लक्ष्मी

पात्र का दान

अक्षय तृतीया पर दान के महत्‍व को देखते हुए इस दिन जल का कोई पात्र यानी बरतन जैसे गिलास, घड़ा का दान करना चाहिए। ग्रीष्‍मकाल में जल से जुड़ी हुई शीतल चीजों का दान शास्‍त्रों में बहुत ही महत्‍वपूर्ण बताया गया है।

गाय की करें सेवा

गुड़ का दान करें या जल में गुड़ मिलाकर गाय को पिलाएं। आप चाहें तो मीठी रोटी बनाकर भी गाय को खिला सकते हैं। अक्षय तृतीया रविवार को है ऐसे में यह उपाय आपके सूर्य को बलवान बनाएगा। ज्योतिषशास्त्र में बताया गया है कि इससे आरोग्य की प्राप्ति होती है। हृदय को बल मिलता है और सरकारी क्षेत्र एवं पैतृक धन संपत्ति से सुख मिलता है।

नहीं कर पा रहे हैं सोने की खरीदारी तो

जौ खरीदकर भगवान विष्णु के चरणों में रखें। भगवान विष्णु की पूजा करें। इसके बाद जौ को लाल वस्त्र में लपेटकर तिजोरी में रखें। जौ को कनक यानी सोने के समान माना गया है। जौ का दान भी स्वर्ण दान के समान कहा गया है। अक्षय तृतीया पर सोना खरीदने की परंपरा है। इसे शगुन माना जाता है। इस वर्ष सोना खरीदने के लिए घर से बाहर आप नहीं जा सकते हैं। दूसरी ओर मंदी के दौर में धन की बचत के लिए भी आप इस उपाय से अक्षय तृतीया का शगुन कर सकते हैं।

अन्‍नदान महादान

अक्षय तृतीया पर अन्न दान करना बहुत ही पुण्य फलदायी माना गया है। इस दिन किए गए दान का पुण्य कभी समाप्त नहीं होता है। इसलिए अपने आस-पास के किसी जरूरतमंद को एक किलो चावल, आटा या कोई अन्य अनाज दान दें। अगर आप चाहें तो इसकी मात्रा बढ़ा भी सकते हैं।

बच्‍चों को कर सकते हैं इन वस्‍तुओं का दान

अक्षय तृतीया पर बुध का संचार मेष राशि में सूर्य के साथ होगा। इस अवसर पर हरा चारा, पालक गाय को खिलाना बहुत ही शुभ फलदायी होगा। यह व्यापार, शिक्षा और धन के लिए शुभ फलदायी उपाय है जिसका जिक्र ज्योतिषशास्त्र में मिलता है, क्योंकि इससे बुध मजबूत होता है। इस अवसर पर बच्चों को कॉपी, कलम औ कन्याओं को हरी चूड़ियां भी दान कर सकते हैं।