डायबिटीज पेशेंट के शुगर लेवल को तेजी से कंट्रोल करने का काम करता है अंजीर, बस इस तरह करें सेवन

डायबिटीज के मरीजों का शुगर लेवल एक स्तर से ज्यादा बढ़ना और स्तर से ज्यादा नीचे घटना दोनों ही सूरतों में स्थिति बिगड़ जाती है। ये दोनों ही स्थितियां आपके खानपान पर निर्भर करती हैं। इसीलिए डॉक्टर्स मधुमेह के रोगियों के शुगर लेवल की नियमित जांच करने को कहते हैं। डायबिटीज के मरीज शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए दवाइयों का सेवन करते हैं। इसके अलावा कुछ घरेलू नुस्खों को अपनाकर भी शुगर के लेवल को नियंत्रित कर सकते हैं। इन्हीं घरेलू नुस्खों में से एक अंजीर का फल है। बहुत की कम लोग इस बात को जानते होंगे कि अंजीर खाने में तो ,स्वादिष्ट होता है साथ ही साथ ये आपके शुगर लेवल को मेनटेंन करने में भी कारगर है। जानें अंजीर का फल शुगर लेवल को किस तरह से नियंत्रित करता है और इसका सेवन किस तरह से करना लाभदायक होता है।

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

मधुमेह रोगियों के लिए कारगर है अंजीर का फल

डायबिटीज के मरीजों को अपनी डाइट में अंजीर के फल को शामिल करना चाहिए। अंजीर में फाइबर, कैल्शियम, आयरन, विटामिन ए और बी, फॉस्फोरस और पोटेशियम के अलावा कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। यही पोषक तत्व ब्लड शुगर लेवल को बराबर मात्रा में लाने का काम करते हैं।

जानें कैसे काम करता है अंजीर

अंजीर में एंटी डायबिटिक गुण पाया जाता है जो डायबिटीज के कारण शरीर पर पड़ने वाले बुरे प्रभाव को कम करता है। इसमें घुलनशील फाइबर भी होता है। ये ब्लड में ग्लूकोज को जल्दी एब्जॉर्ब नहीं होने देता। इसके साथ ही कोलेस्ट्रॉल भी काबू में रखता है।

rgyan app

डायबिटीज के पेशेंट इस तरह करें अंजीर के फल का सेवन

डायबिटीज के पेशेंट अंजीर की पत्तियों की चाय बनाकर पी सकते हैं। इसके अलावा सूखे अंजीर को दूध में 4 से 5 घंटे भिगोने के बाद खाएं। इस बात का ख्याल रखें कि किसी भी चीज की ज्यादा मात्रा सेहत के लिए हमेशा हानिकारक होती है। इसलिए सीमित्र मात्रा में ही इसका सेवन करें।

कब्ज से भी दिलाता है राहत

अंजीर का सेवन करने से कब्ज की समस्या में आराम मिलता है। इसके इस्तेमाल से पेट साफ होता है जिससे कि आप सुबह आराम से फ्रश हो सकते हैं। इसके अलावा अंजीर का फल वजन कम करने और पाचन तंत्र को मजबूत करने का काम भी करता है। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखKaal Bhairav Jayanti 2020: काल भैरव जयंती के दिन करें ये 5 उपाय, सभी मनोकामनाएं होंगी पूरी
अगला लेखकिसानों और सरकार के बीच बैठक रही बेनतीजा, अब निगाहें 3 दिसंबर पर