आपकी होगी सारी इच्छा पूरी, आपको करना होगा इन 4 में से कोई 1 उपाय…?

आचार्य इंदु प्रकाश के अनुसार 11 बजकर 23 मिनट तक मृगशिरा नक्षत्र रहेगा, उसके बाद आर्द्रा नक्षत्र शुरू हो जायेगा। आर्द्रा नक्षत्र आज दोपहर पहले 11 बजकर 24 मिनट से शुरू होकर अगले दिन की दोपहर पहले 11 बजकर 26 मिनट तक रहेगा| नक्षत्रों की श्रेणी में आर्द्रा को छठा नक्षत्र माना जाता है | आर्द्रा का अर्थ होता है- नमी | आंख में आने वाले आंसुओं को इस नमी के साथ जोड़कर देखा जाता है | आर्द्रा नक्षत्र का प्रतीक चिन्ह भी आंसू की बूंद को ही माना जाता है| वैदिक ज्योतिष के अनुसार भगवान शिव के रुद्र रूप को आर्द्रा नक्षत्र का अधिपति देवता माना जाता है|

आज के दिन आर्द्रा नक्षत्र के दौरान कुछ खास उपाय करके आप कैसे लाभ उठा सकते हैं। जानें इन उपायों के बारे में।

  • अगर आप सेना में हैं, पुलिस में हैं या इस तरह के किसी दूसरे डिपार्टमेंट में हैं और अपने काम में विशेष उपलब्धियां हासिल करना चाहते हैं, तो आज के दिन शीशम के पेड़ की पूजा करें | साथ ही उसके पास सरसों के तेल का दीपक जलाएं | आज के दिन ऐसा करने से आपको अपने काम में विशेष उपलब्धियां हासिल होगी | 
  • अगर आप किसी प्रशासनिक सेवा के लिये प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं और उसमें अपनी सफलता सुनिश्चित करना चाहते हैं, तो आज के दिन मंदिर में लाल मसूर की दाल दान करें | आज के दिन ऐसा करने से आपको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों का उचित फल जरूर मिलेगा |
  • अगर आप अपने अंदर पॉजिटिव ऊर्जा बनाये रखना चाहते हैं, तो आज के दिन शीशम के पेड़ की जड़ में जल चढ़ाएं | साथ ही उसके तने को छूकर प्रणाम करें | आज के दिन ऐसा करने से आपके अंदर पॉजिटिव ऊर्जा बनी रहेगी |
  • अगर आप अपने लक्ष्य को जल्द से जल्द पाना चाहते हैं, तो आज के दिन चमेली के तेल का दीपक जलाएं | आज के दिन ऐसा करने से आप अपने लक्ष्य को जल्द से जल्द पाने में कामयाब रहेंगे |