जो ‘शांडिल्य’ या ‘जनेऊधारी’ नहीं उनका क्या? ओवैसी ने साधा ममता बनर्जी पर निशाना

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के गोत्र का मामला राजनीतिक तूल पकड़ता जा रहा है। AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी ने ममता बनर्जी पर निशाना साधा है। ओवैसी ने कहा है कि उनके जैसे लोग जो शांडिल्य या जनेऊधारी नहीं हैं या किसी भगवान के भक्त नहीं है और चालीसा या कोई और पाठ नहीं करते हैं उनका क्या होगा? ओवैसी ने कहा है कि हर पार्टी चुनाव जीतने के लिए अपने आप को हिंदू दिखाने में लगी है।

astrologi report

मंगलवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और नंदीग्राम विधनासभा सीट से चुनाव में उतरी TMC प्रमुख ममता बनर्जी ने चुनाव प्रचार के दौरान अपने गोत्र का जिक्र किया था और गोत्र शांडिल्य बताया था। नंदीग्राम में चुनाव प्रचार के आखिरी दिन मंगलवार को ममता बनर्जी ने कहा, “मैं त्रिपुरा के त्रिपुरेश्वरी मंदिर गई थी. वहां पुरोहित ने पूछा.., तुम्हारा गोत्र क्या है? मैंने कहा- मां, माटी, मानुष ही मेरा गोत्र है। लेकिन, पुजारी ने कहा कि अपना निजी गोत्र बताइए। तो मैंने कहा कि मेरा पर्सनल गोत्र शांडिल्य है।”

इस बारे में ममता बनर्जी ने कहा, “मेरा मानना है कि मेरा अपना गोत्र मां, माटी और मानुष ही है। मेरी पूजा से लोगों का भला होता है तो मैं पूजा करूंगी। मैं मां, माटी और मानुष की पूजा करती हूं। मेरे पूजा घर में मां, माटी, मानुष लिखा हुआ है। क्यों पता है, क्योंकि मैं रोज़ प्रार्थना करती हूं। मैं सुबह-सुबह उठकर चंडी पाठ करती हूं।” गौरतलब है कि नंदीग्राम में दूसरे चरण के तहत 1 अप्रैल को वोटिंग होनी है। ऐसे में मंगलवार शाम 5 चुनाव प्रचार खत्म हो गया।

rgyan app

चुनाव प्रचार के अंतिम दिन पूर्व मेदिनीपुर जिले की नंदीग्राम सीट पर काफी गहमागहमी रही जहां से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सामने भाजपा नेता और उनके पूर्व अनुयायी शुभेंदु अधिकारी मैदान में हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिन में नंदीग्राम में अधिकारी के समर्थन में बंगाल के सिनेस्टार मिथुन चक्रवर्ती के साथ रोडशो किया। वहीं, व्हीलचेयर पर बैठीं ममता ने अपने चुनाव क्षेत्र में कई स्थानों पर रैलियों को संबोधित किया। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here