Astrology: ऐसा करने से खराब होता है केतु, जीवन में आती हैं ये परेशानियां

ज्योतिषशास्त्र में जिस प्रकार से सभी ग्रहों के गुण बताए गए हैं, वैसे ही उनके कमजोर होने से पैदा होने वाली समस्याओं के बारे में भी बताया गया है. राहु और केतु (Rahu Ketu) को छद्म ग्रह माना गया है, लेकिन इनकी खराब स्थिति के कारण जीवन में कई तरह की परेशा​नियां आती हैं. उन्नति नहीं होती है, घर में शांति नहीं होती और तो और शरीर में भी कई प्रकार के रोग लग जाते हैं. आप अपने गलत आचरण और व्यवहार के कारण भी केतु को खराब कर देते हैं. आइए जानते हैं खराब केतु के लक्षण और उसके कारण पैदा होने वाले रोग.

खराब केतु के लक्षण

  1. यदि आप शादीशुदा है और आपके बच्चे हैं, तो उनसे आपका गलत बर्ताव केतु को खराब करता है.
  2. घर के अंदर हमेशा लड़ाई-झगड़ा करने से भी केतु खराब होता है. घर में शांति बनाए रखना चाहिए.
  3. यदि आपके घर का उत्तर-पश्चिम कोण या दिशा वास्तु दोष वाला है, तो यह केतु को खराब करता है.
  4. जिन लोगों के सिर के बाल ज्यादा गिर रहे होते हैं, उनका भी केतु खराब हो सकता है.
  1. केतु के दुष्प्रभाव से व्यक्ति को आग से जलने का भय होता है, उसका झुकाव जादू टोना, तंत्र आदि में होने लगता है.
  2. खराब केतु के कारण कैंसर, हैजा, निमोनिया, दमा, त्वचा के रोग या मूत्र रोग हो सकते हैं.
  3. जिन लोगों को पित्त रोग, बवासीर, छुआछूत आदि की बीमारी होती है, उनका भी केतु खराब होने का यह लक्षण हो सकता है.
  4. खराब राहु के कारण शरीर में खुजली होना, चित्ती निकलना आदि भी हो सकता है.
  5. जब केतु खराब होता है तो मन में अनावश्यक डर बना रहता है. दिमाग हमेशा नकारात्मकता की तरफ ही भागता है.
  6. जो लोग अपने माता-पिता, बड़े-बुजुर्गों का सम्मान नहीं करते हैं, उनके कई सारे ग्रह खराब हो जाते हैं.

अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतindia.news18.com
पिछला लेखVastu Tips: इन दिशाओं को कभी न रखें गंदा, आमदनी पर पड़ेगा बुरा असर
अगला लेखCryptocurrency पर बड़ी खबर: संसद के इस सत्र में नहीं आएगा बिल! क्या है कारण, जानिए