73 साल के बुजुर्ग भिखारी ने किया कमाल, भीख मांगकर मंदिर में दान किए 8 लाख रुपए

नई दिल्ली। एक भिखारी भगवान को दान देने के बाद सुर्खियों में आ गया है। आंध्रप्रदेश के विजयवाड़ा में एक मंदिर के बाहर भीख मांगने वाले 73 साल के एक बुजुर्ग भिखारी ने बीते एक साल के दौरान करीब 8 लाख रुपए दान में दिया है। बुजुर्ग भिखारी का कहना है कि मंदिर में दान देने से उसकी आय में काफी इजाफा हुआ है। मंदिर प्रशासन ने भिखारी की दानशीलता की सराहना करते हुए कहा कि उनकी वजह से मंदिर का काफी विकास किया जा सका है। 

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, 73 साल के यादी रेड्डी मंदिर के बाहर भीख मांगने का काम करते हैं। इससे पहले वह अपनी आजीविका के लिए 4 दशकों तक रिक्शा चलाते रहे लेकिन घुटनों में तकलीफ के चलते उन्हें अपना यह रोजगार छोड़ना पड़ा और मंदिर के बाहर भीख मांगने पर मजबूर होना पड़ा। रेड्डी ने कहा, मैंने 40 साल रिक्शा खींचा है। पिछले 40 सालों से भीख मांगकर गुजारा कर रहे रेड्डी ने बताया कि सबसे पहली बार मैंने साईं बाबा मंदिर के अधिकारियों को दान के तौर पर 1 लाख रुपए दिए थे। जैसे-जैसे मेरा स्वास्थ्य बिगड़ने लगा, मुझे महसूस हुआ कि मुझे पैसे की इतनी जरूरत नहीं है और इसलिए मैंने ज्यादा से ज्यादा पैसा मंदिर में दान करना शुरू कर दिया।

रेड्डी ने आगे बताया कि जबसे उन्होंने मंदिर में दान देना शुरू किया है, तबसे उनकी आय भी बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि मंदिर में दान करने की वजह से लोग मुझे पहचानते हैं। मैंने अभी तक मंदिर को करीब 8 लाख रुपए दान में दिए हैं। रेड्डी ने कहा कि मैंने भगवान की कसम खाई है कि मैं अपनी पाई-पाई उस परमशक्ति को दान कर दूंगा। रेड्डी की दानशीलता की सराहना की जा रही है। 

रेड्डी के इस कदम की तारीफ करते हुए मंदिर प्रबंधन ने बताया कि उनके इस दान से मंदिर के विकास में काफी मदद मिली है। साईं बाबा मंदिर के एक अधिकारी ने बताया कि वे लोग रेड्डी की मदद से एक गोशाला बनाने के काम में लगे हैं, हम उनके इस कदम की सराहना करते हैं। उन्होंने कहा कि हमने किसी से कभी किसी तरह के दान की मांग या उम्मीद नहीं करते लेकिन लोग अपनी खुशी से दान करते हैं।