CRPF कमांडो की सुरक्षा पाने वाली कंगना रनौत बॉलीवुड की पहली कलाकार होंगी

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत बॉलीवुड की पहली कलाकार बन गयी हैं, जिन्हें केंद्रीय गृह मंत्रालय ने ‘वाई प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की है। सुरक्षा घेरे के तहत केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के विशिष्ट कमांडो उनकी हिफाजत करेंगे। देश का सबसे बड़ा अर्द्धसैन्य बल सीआरपीएफ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, देश के प्रधान न्यायाधीश एस ए बोबडे, कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी और उनकी संतान-राहुल और प्रियंका सहित करीब 60 विशिष्ट लोगों को सुरक्षा मुहैया करा रहा है।

एक अधिकारी ने बताया कि रनौत बॉलीवुड की पहली अदाकारा होंगी जिनकी रक्षा सीआरपीएफ कमांडो करेंगे। सीआरपीएफ के कर्मी रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष मुकेश अंबानी और उनकी पत्नी नीता की भी हिफाजत करते हैं। मुकेश अंबानी को ‘जेड-प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई जबकि उनकी पत्नी को ‘वाई-प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा हासिल है। हालांकि, सरकार से मिलने वाली सुरक्षा के बदले उन्हें रकम का भुगतान करना पड़ता है।

rgyan app

फिलहाल यह नहीं पता चल पाया है कि रनौत को सुरक्षा के लिए सरकार को रकम का भुगतान करना होगा या नहीं। ‘वाई प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा के तहत 10-11 कमांडो 24 घंटे अलग-अलग पाली में रनौत की रक्षा करेंगे। इन कमांडो में से कहीं भी आने-जाने पर रनौत के साथ दो-तीन सशस्त्र पीएसओ (निजी सुरक्षा अधिकारी) होंगे, जबकि अन्य कर्मी उनके आवास पर सुरक्षा में तैनात रहेंगे।

एक अन्य अधिकारी ने बताया कि आवास पर तैनात कमियों को वहां आने-जाने वाले लोगों की पहुंच को सीमित करने का अधिकार होगा। रनौत को ‘वाई प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा दिए जाने का मतलब है कि खुफिया एजेंसियों को खतरे के बारे में खास सूचना मिली है। उनके सुरक्षा कर्मियों के लिए एक ‘एस्कॉर्ट वाहन’ भी मिलने की संभावना है।

अधिकारियों ने बताया कि जेड श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त लोगों को भी ‘एस्कॉर्ट वाहन’ मिलते हैं और ‘जेड प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त लोगों को भी एक ‘पायलट वाहन’ के साथ ही ‘एस्कॉर्ट वाहन’ की सुविधा दी जाती है । बॉलीवुड के अन्य कलाकारों को या तो महाराष्ट्र पुलिस से सुरक्षा मिलती है या वे निजी सुरक्षा एजेंसियों की सेवा लेते हैं।

और अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

स्रोतindiatvnews.com
पिछला लेखवास्तु शास्त्र: नल के टपकते पानी से आती है गरीबी और परेशानी, तुरंत करें सही
अगला लेखकोरोना वैक्सीन: कोरोना के खिलाफ 50 प्रतिशत भी प्रभावी नहीं कोई वैक्सीन, WHO ने कही ये बात