HDFC बैंक ने की बड़ी घोषणा, ऑटो लोन ग्राहकों को लौटाया जाएगा कमीशन का पैसा

निजी क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) ने गुरुवार को अपने ऑटो लोन ग्राहकों से छह साल तक लिए गए विवादित “जीपीएस उपकरण कमीशन” को लौटाने की घोषणा की है। गौरतलब हैं कि पिछले साल बैंक के तत्कालीन मुख्य कार्यकारी अधिकारी आदित्य पुरी ने खास आरोपों के सामने आने के बाद ऑटो ऋण वितरण में गड़बड़ियों की बात मानी थी। रिजर्व बैंक ने भी इस साल की शुरुआत में कर्ज वितरण में खामियों को लेकर बैंक पर 10 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था।

Get-Detailed-Customised-Astrological-Report-on

बैंक पर यह आरोप लगा था कि ऑटो ऋण लेनदारों को ऋण के साथ 18,000 रुपये से ज्यादा की कीमत पर बैंक से जीपीएस (ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम) उपकरण खरीदने के लिए मजबूर किया गया था। इससे बैंकों को कोई अन्य उत्पाद बेचने से रोकने वाले मौजूदा नियमों के उल्लंघन के अलावा निजता को लेकर भी सवाल उठे थे क्योंकि इस तरह के उपकरण से वाहन की जगह की जानकारी हासिल की जा सकती है।

रोकी गई सेवाओं को शुरू करने के लिए आरबीआई से चल रही है बात

एचडीएफ़सी बैंक ने कहा कि प्रतिबंधित सेवाओं को बहाल करने के लिए वह भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) के लगातार संपर्क में है लेकिन इसके लिए कोई समयसीमा देना मुश्किल होगा। आरबीआई ने दरअसल बैंक की इंटरनेट और मोबाइल बैंकिंग सिस्टम में कई खामियों को दूर करने तक एचडीएफसी बैंक को नए क्रेडिट कार्ड जारी करने से रोकने का आदेश दिया था। एचडीएफ़सी बैंक ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि वह नेटवर्क से संबंधित परेशानियों को दूर करने के लिए ‘डिजिटल फैक्टरी’ और ‘एंटरप्राइज फैक्ट्री’ मुहीम के रूप में एक नई प्रौद्योगिकी का निर्माण करेगा।

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

बैंक ने हालांकि स्वीकार किया कि वह पुराने बैंकिंग प्रणाली को जारी रखेगा और गड़बड़ी होने पर सेवा को वापस शुरू करने में लगने वाले समय को कम करने के लिए काम कर रहा है। आरबीआई ने दिसंबर 2020 में बड़ा कदम उठाते हुए इंटरनेट और मोबाइल बैंकिंग सिस्टम में गड़बड़ियों के कारण एचडीएफसी बैंक को नई डिजिटल बैंकिंग पहल और क्रेडिट कार्ड जारी करने को रोक लगाने का आदेश दिया था। इस कार्रवाई के बाद भी हालांकि यह खामियां जारी रही और हाल ही में मंगलवार को बैंक की मोबाइल एप्लिकेशन ने 90 मिनट तक काम करना बंद कर दिया था। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखकोरोना वायरस: एक्टिव मामले 8 लाख से नीचे, रिकवरी रेट 96% के ऊपर, 5 करोड़ से ज्यादा को वैक्सीन की दोनों डोज
अगला लेखअसम कांग्रेस में बगावत के आसार? MLA बोला- छोड़ रहा हूं पार्टी, नेतृत्व राहुल के बस की बात नहीं