निर्यात की अनुमति मिलते ही प्‍याज ने दिखाया अपना रंग, मंडियों में थोक भाव 500 रुपये प्रति क्विंटल तक बढ़ा

देश में प्‍याज की नई आवक शुरू होने से कीमतों पर बने दबाव को कम करने के लिए सरकार द्वारा सोमवार को प्‍याज निर्यात पर से प्रतिबंध हटाने की घोषणा के तुरंत बाद ही प्‍याज की थोक कीमतों में जोरदार उछाल देखने को मिला है। मंगलवार को महाराष्ट्र की लासलगांव मंडी में प्याज का थोक भाव 2200 रुपए प्रति क्विंटल तक पहुंच गया। इससे पहले सोमवार को यहां प्‍याज का थोक भाव अधिकतम 1750 रुपये प्रति क्विंटल था। वहीं मनमाड मंडी में मंगलवार को प्‍याज का थोक भाव 2100 रुपये प्रति क्विंटल पर पहुंच गया, जो सोमवार को 1600 रुपये प्रति क्विंटल तक था।

01 जनवरी, 2021 से शुरू होगा निर्यात

सरकार ने सोमवार को प्याज की सभी किस्मों के निर्यात पर लगाई गई रोक को अगले साल एक जनवरी से हटाने का फैसला किया है। सरकार ने इस साल सितंबर में कीमतों में तेजी आने और घरेलू बाजार में उपलब्धता बढ़ाने के लिए प्याज के निर्यात पर रोक लगा दी थी। विदेश व्यापार महानिदेशालय ने एक अधिसूचना में कहा कि प्याज की सभी किस्मों का निर्यात एक जनवरी 2021 से मुक्त रूप से किया जा सकता है। विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) वाणिज्य मंत्रालय की इकाई है जो कि निर्यात और आयात-संबंधी मुद्दों को देखता है।

नई आवक से घटे दाम

राष्ट्रीय राजधानी में प्याज का खुदरा मूल्य 35-40 रुपये प्रति किलोग्राम के दायरे में है। भारत में महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और कर्नाटक तीन सबसे बड़े प्याज उगाने वाले राज्य हैं। भारत सबसे बड़े प्याज निर्यातकों में से एक है। भारत से नेपाल और बांग्लादेश सहित कई देशों को प्याज का निर्यात किया जाता है। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखमिर्गी की समस्या से निजात दिलाने में कारगर है पीपल-बरगद की जटा, बस ऐसे करें सेवन
अगला लेखदैनिक राशिफल 30 दिसंबर: मिथुन और सिंह राशि वालों के लिए नौकरी में मिलेगी सफलता, पढ़ें बुधवार का राशिफल