शेयर बाजार: 39300 के पार सेंसेक्स, बैंकिंग शेयरों में तेजी…

डेरिवेटिव बाजार में मासिक सौदे काटने से पहले वित्तीय शेयरों में बढ़त और विदेशी कोषों की लगातार आवक के चलते गुरुवार को बीएसई के प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स में 200 अंकों से ज्यादा का उछाल आया। सेंसेक्स 247 अंकों की बढ़त के साथ 39,320 और निफ्टी 58 अंकों की तेजी के साथ 11,607 पर कारोबार करता दिखा। आज फिर बैंकिंग शेयरों में तेजी नजर आ रही है।

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 39,310.37 के उच्च स्तर को छूने के बाद 200.06 अंक या 0.51 प्रतिशत की बढ़त के साथ 39,273.98 पर कारोबार कर रहा था। दूसरी ओर एनएसई निफ्टी 52.75 अंक या 0.46 प्रतिशत बढ़कर 11,602.35 पर था।

सेंसेक्स में सबसे अधिक तीन प्रतिशत की बढ़त इंडसइंड बैंक में हुई। बढ़त के लिहाज से इसके बाद एचडीएफसी, एचडीएफसी बैंक, एसबीआई, एमएंडएम, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, आईटीसी और एशियन पेंट्स रहे।

दूसरी ओर बजाज ऑटो, बजाज फाइनेंस, एचयूएल और एनटीपीसी में गिरावट हुई।

पिछले सत्र में सेंसेक्स 230.04 अंक या 0.59 प्रतिशत की बढ़त के साथ 39,073.92 पर बंद हुआ था, जबकि एनएसई निफ्टी 77.35 अंक या 0.67 प्रतिशत की बढ़त के साथ 11,549.60 पर बंद हुआ।

शेयर बाजार के आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार को सकल आधार पर 1,581.31 करोड़ रुपये की इक्विटी खरीदी। कारोबारियों ने बताया कि अगस्त के वायदा और विकल्प अनुबंधों की समाप्ति से पहले बैंकिंग शेयरों में तेजी और लगातार विदेशी कोषों की आवक के चलते प्रमुख सूचकांकों में बढ़त हुई।

इसके अलावा निवेशकों को अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व की वार्षिक बैठक में अध्यक्ष जेरोम पॉवेल के भाषण का भी इंतजार है। हांगकांग, टोक्यो और सियोल के बाजार घाटे के साथ कारोबार कर रहे थे, जबकि शंघाई में बढ़त देखने को मिली। ब्रेंट क्रूड 0.11 प्रतिशत बढ़कर 46.21 प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था।

स्रोतhindustan.com
पिछला लेखदुबलेपन या अंडरवेट से हैं परेशान, अपनाएं स्वामी रामदेव के ये टिप्स 20 दिन में दुबलेपन से पाएं छुटकारा
अगला लेखकाोविड-19 सभी अंगों को कर सकता है प्रभावित