Chanakya Neeti: बनना चाहते हैं धनवान तो अपने होथो से करें ये काम, जानिए क्या कहती है चाणक्य नीति

Chanakya Neeti: भले ही आपको आचार्य चाणक्य की नीतियां कठोर लगे लेकिन उनके द्वारा बताई गई बातें जीवन में किसी न किसी तरीके से सच्चाई जरूर दिखाती है। आप उनके विचारों को नजरअंदाज ही क्यों न कर दें लेकिन ये वचन जीवन की हर कसौटी पर आपकी मदद करेंगे। चाणक्य जी के द्वारा बताई गई हर एक नीति मनुष्य को जीवन में लक्ष्य पाने के लिए प्रेरित करती हैं। यही वजह है कि आज भी लोग उनके द्वारा कही गई बातें को जरूर अपनाते हैं। उनके द्वारा बताई गई बातों पर चलने से घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है। आचार्य चाणक्य के इन्हीं विचारों में से आज हम एक और विचार का विश्लेषण करेंगे। आज का ये विचार धन लाभ पर आधारित है।

हाथ से गूंथी हुई माला भगवान को करें अर्पित

चाणक्य नीति के अनुसार, अगर आप भगवान को खुश करना चाहते हैं तो इसके लिए कुछ उपाय करना भी जरूरी है। चाणक्य जी कहते हैं कि बाजार से खरीदी हुई माला ईश्वर को चढ़ाने से लाभ नहीं मिलता है बल्कि खुद ही अपने हाथों से ईश्वर के लिए माला गूंथना फलदायी माना जाता है। ऐसा करने से घर में सुख शांति और धन संपन्नता आती है।

अपने हाथ से घिसे चंदन

चाणक्य नीति के अनुसार, भगवान को चढ़ाने के लिए पहले से ही या दूसरों का घिसा हुआ चंदन का इस्तेमाल न करें। इससे लाभ नहीं मिलता है। बल्कि आप खुद ही अपने हाथों से चंदन घिस कर भगवान को अर्पित करें।

खुद ही लिखे स्तुति

चाणक्य जी का कहना है कि भगवान के प्रति हर मनुष्य के भाव अलग-अलग होते हैं। दूसरे के लिखे स्तुति से आपके भाव उनके तक सही तरीके से नहीं पहुंचते। ऐसे में आराध्य के प्रति अपने भावों को प्रकट करने के लिए खुद ही भगवान की स्तुति लिखें और उन्हें ही ईश्वर के सामने पढ़ें। ऐसा करने से ईश्वर प्रसन्न होते हैं।

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखVastu Shastra: उत्तर-पूर्व दिशा में न रखें ये चीजें, वरना हो सकता है पिता-पुत्र के संबंधों में अनबन
अगला लेखAaj Ka Rashifal 31 May 2022: वृष राशि समेत इन 3 राशियों को होगा धन लाभ, जानिए अन्य का हाल