Coronavirus: देशभर में मिले 48,698 नए मरीज, 1183 की मौत, 6 लाख से कम हुए एक्टिव केस

देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर धीमी जरूर पड़ी है लेकिन अभी भी पूरी तरह से सावधानी बरतने की जरूरत है। पिछले 24 घंटों में देशभर में कोरोना संक्रमण के 48 हजार 698 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 64 हजार 818 लोगों ने कोरोना बीमारी को मात दी है जबकि 1183 मरीजों की कोरोना संक्रमण के कारण मौत हो गई।

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए नए आंकड़ों के बाद, पिछले साल कोरोना की शुरुआत से अबतक इस संक्रमण के कुल 3 करोड़ 1 लाख 83 हजार 143 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से 2 करोड़ 91 लाख 93 हजार 085 लोगों की इस संक्रमण से उबरने में सफल रहे हैं जबकि 3 लाख 94 हजार 493 लोगों की इस बीमारी की वजह से मौत हो चुकी है। इस वक्त देश में कोरोना के एक्टिव मामलों की संख्या घटकर 5 लाख 95 हजार 565 हो गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को आठ राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से उन जिलों में प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण बढ़ाने के साथ ही भीड़ को रोकने, व्यापक जांच करने जैसे रोकथाम उपाय करने का आग्रह किया जहां कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस स्वरूप का पता चला है।
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने तमिलनाडु, राजस्थान, कर्नाटक, पंजाब, आंध्र प्रदेश, जम्मू कश्मीर, गुजरात और हरियाणा को लिखे पत्रों में इन उपायों का सुझाव दिया है।

Get-Detailed-Customised-Astrological-Report-on

उन्होंने राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों से यह सुनिश्चित करने का भी आग्रह किया कि कोविड-19 संक्रमित पाये गए लोगों के पर्याप्त नमूने तत्काल भारतीय सार्स-सीओवी-2 जीनोमिक कंसोर्शिया की निर्दिष्ट प्रयोगशालाओं में भेजे जाएं ताकि क्लीनिकल​महामारी विज्ञान संबंधी सहसंबंध स्थापित किए जा सकें।

भूषण ने कहा कि सार्स-सीओवी-2 का डेल्टा प्लस स्वरूप आंध्र प्रदेश के तिरुपति जिले, गुजरात के सूरत, हरियाणा के फरीदाबाद, जम्मू-कश्मीर के कटरा, राजस्थान के बीकानेर, पंजाब के पटियाला और लुधियाना, कर्नाटक के मैसूरु तथा तमिलनाडु में चेन्नई, मदुरै और कांचीपुरम में पाया गया है। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखशनिवार के दिन अगर नहीं बनते हैं काम, तो इन उपायों से बरसेगी शनिदेव की कृपा
अगला लेख28 जून से खुल रहा है महाकाल मंदिर : आम हों या खास किसी श्रद्धालु को नहीं मिलेगा गर्भगृह में प्रवेश