हवाई सफर में मास्क नहीं पहनना पड़ेगा महंगा, No Fly list में जुड़ सकता है आपका नाम…

अगर आप फ्लाइट से सफर करते हैं लेकिन फेसमास्क पहनने को लेकर लापरवाह हैं तो अब संभल जाइए. आपकी यह लापरवाही अब नहीं चलेगी. एविएशन रेगुलेटर डीजीसीए ने फेसमास्क न पहनने को लेकर अब सख्ती कर दी है. खबर के मुताबिक, वैसे पैसेंजर जो सफर के दौरान फ्लाइट में मास्क लगाकर नहीं रहेंगे या मास्क पहनने से इनकार करेंगे, उनका नाम नो फ्लाई लिस्ट में शामिल किया जाएगा. यानी आप फ्लाइट से सफर नहीं कर सकेंगे.  

डीजीसीए ने कहा है कि पैसेंजर्स सिर्फ वाजिब वजहों या परिस्थितियों में ही फेसमास्क हटा सकते हैं. आपको बता दें, आप पर केबिन क्रू या फ्लाइट कमांडर की नजर होगी. वही आपका एसेसमेंट करेंगे और आपकी लापरवाही दिखी तो आपको नो फ्लाई लिस्ट में शामिल कर दिया जाएगा. डीजीसीए ने यह सख्ती पैसेंजर्स की सेफ्टी को ध्यान में रखते हुए की है.  

1 सितंबर 2020 से सफर होगा महंगा

1 सितंबर से Domestic और International फ्लाइट से एयरट्रैवल करना महंगा हो जाएगा. दरअसल, सिविल एविएशन मंत्रालय ने 1 सितंबर 2020 से डोमेस्टिक और इंटरनेशनल फ्लाइट से सफर के लिए ज्यादा विमानन सुरक्षा शुल्क वूसलने का फैसला किया है. इससे हवाई सफर महंगा हो जाएगा.

डीजीसीए के मुताबिक, अगले महीने से डोमेस्टिक एयर पैसेंजर्स को ASF के तौर पर 150 रुपये के बजाय 160 रुपये का पेमेंट करना होगा. वहीं, इंटरनेशनल फ्लाइट से सफर पर पैसेंजर्स को 1 सितंबर से 4.85 डॉलर के बजाय 5.2 डॉलर बतौर ASF चुकाना होगा.

एयरलाइंस कंपनियां टिकट की बुकिंग के समय ASF चार्ज वसूल कर सरकार को जमा कराती हैं. इस रकम का इस्तेमाल देशभर के एयरपोर्ट (Airport) की सुरक्षा व्यवस्था पर खर्च किया जाता है. मंत्रालय ने पिछले साल भी ASF में बढ़ोतरी की थी.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here