Home आध्यात्मिक December 2021 Fast And Festivals: जानें दिसंबर के पहले सप्ताह के व्रत...

December 2021 Fast And Festivals: जानें दिसंबर के पहले सप्ताह के व्रत एवं त्योहार, देखें लिस्ट

अंग्रेजी कैलेंडर के 12वें माह दिसंबर का प्रारंभ आज से हो गया है. यह सप्ताह 1 से 5 तारीख तक है. दिसंबर के पहले सप्ताह में गुरु प्रदोष व्रत (Pradosh Vrat), मासिक शिवरात्रि (Masik Shivratri), मार्गशीर्ष अमावस्या (Margashirsha Amavasya) या शनैश्चरी अमावस्या, साल का आखिरी सूर्यग्रहण (Solar Eclipse) और हिन्दू कैलेंडर के मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष का प्रारंभ होना है. इस सप्ताह में दो विशेष संयोग बन रहे हैं. पहला संयोग 02 दिसंबर को गुरु प्रदोष व्रत और मासिक शिवरात्रि का बन रहा है. एक ही दिन दोनों ही व्रत रखे जाएंगे. एक दिन व्रत रखने का आपको दोगुना फल प्राप्त होगा, प्रदोष व्रत का और मासिक शिवरात्रि का भी. दूसरा संयोग बन रहा है 04 दिसंबर को. इस दिन मार्गशीर्ष अमावस्या के दिन सूर्य ग्रहण का संयोग बन रहा है. आइए जानते हैं कि दिसंबर के पहले सप्ताह में ये व्रत एवं त्योहार कब हैं, ताकि आप पहले से ही इसके​ लिए तैयारियां कर लें.

दिसंबर 2021: पहले सप्ताह के व्रत एवं त्योहार

02 द‍िसंबर, दिन: गुरुवार- गुरु प्रदोष व्रत, मासिक शिवरात्रि.
04 दिसंबर, दिन: शनिवार- मार्गशीर्ष अमावस्या, स्नान-दान की अमावस्या, शनैश्चरी अमावस्या, साल का आखिरी सूर्यग्रहण.
05 दिसंबर, दिन: सोमवार- मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि.

गुरु प्रदोष एवं मासिक शिवरात्रि

02 दिसंबर को गुरु प्रदोष व्रत शोभन योग में प्रारंभ हो रहा है. इस दिन शोभन योग शाम 05 बजे तक आौर त्रयोदशी तिथि रात 08:26 बजे तक है. जो लोग व्रत रहेंगे, वे प्रदोष काल में 05:24 बजे से रात 08:07 बजे के बीच प्रदोष व्रत की पूजा करेंगे. वहीं मासिक शिवरात्रि के लिए चतुर्दशी तिथि का प्रारंभ भी 02 दिसंबर को ही रात 08:26 बजे के बाद से हो रहा है. इस दिन शिवरात्रि पूजा का मुहूर्त रात 11:44 बजे से देर रात 12:38 बजे तक है.

मार्गशीर्ष अमावस्या और सूर्यग्रहण

मार्गशीर्ष अमावस्या 04 दिसंबर को है. इस दिन अमावस्या तिथि दोपहर 01:12 बजे तक है. स्नान, पिंडदान, श्राद्धकर्म आदि इस दिन ही होंगे. इस दिन शनैश्चरी अमावस्या है, तो आप शनि दोष से मुक्ति के लिए ज्योतिष उपाय भी कर सकते हैं.

मार्गशीर्ष अमावस्या को ही साल 2021 का आखिरी सूर्यग्रहण भी लग रहा है. 04 दिसंबर को सूर्यग्रहण सुबह 10:59 बजे से दोपहर 03:07 बजे तक रहेगा. यह उपछाया सूर्यग्रहण होगा, इसलिए सूतक काल मान्य नहीं है. हालांकि सूर्यग्रहण के दिन आपको भगवत वंदना करना चाहिए और सूर्यग्रहण में वर्जित कार्यों से बचना चाहिए.

मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष का प्रारंभ

हिन्दू कैलेंडर के अनुसार मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि उदयातिथि को ध्यान में रखकर 05 दिसंबर दिन सोमवार को होगा. हालांकि शुक्ल पक्ष का प्रारंभ 04 दिसंबर को दोपहर 01:12 बजे से होगा। प्रतिपदा तिथि अगले दिन प्रात: 09:27 बजे तक रहेगी। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

Exit mobile version