Home आध्यात्मिक December 2021 Vivah Muhurat: खरमास तक नहीं गूंजेगी शहनाई, जानें दिसंबर में...

December 2021 Vivah Muhurat: खरमास तक नहीं गूंजेगी शहनाई, जानें दिसंबर में विवाह के शुभ मुहूर्त

हिन्दू धर्म में मांगलिक कार्यों के लिए शुभ मुहूर्त (Shubh Muhurat) का होना अनिवार्य है. शुभ मुहूर्त से मांगलिक कार्य के सफल परिणाम एवं लाभ प्राप्त होने के योग ज्यादा होते हैं. हिन्दू कैलेंडर या पंचांग (Panchang) में कुछ मास ऐसे होते हैं, जिसमें मांगलिक कार्यों पर रोक होती है, उनमें चातुर्मास और खरमास (Kharmas) हैं. इस वर्ष खरमास का प्रारंभ 16 दिसंबर दिन गुरुवार से हो रहा है. खरमास में मांगलिक कार्य जैसे शादी (Marriage), सगाई, मुंडन (Mundan), गृह प्रवेश आदि वर्जित होते हैं. खरमास का प्रारंभ सूर्य की धनु सं​क्रांति से होता है. इस समय सूर्य धनु राशि में होता है, जो मकर संक्रांति तक रहता है. धनु सं​क्रांति में सूर्य की स्थिति कमजोर होती है, इसलिए मांगलिक कार्य नहीं किए जाते हैं. इस समय के मांगलिक कार्य शुभ नहीं माने जाते हैं.

Kharmas Vivah Muhurat- खरमास तक हैं विवाह के 6 मुहूर्त

जैसा कि आपको पता है कि 16 दिसंबर से खरमास प्रारंभ हो रहा है, ऐसे में आपको विवाह के लिए शुभ मुहूर्त के बारे में जान लेना चाहिए. आज से दिसंबर शुरु हो चुका है. आज से खरमास के प्रारंभ होने तक विवाह के लिए कुल 6 शुभ मुहूर्त हैं.

दिसंबर 2021 के विवाह मुहूर्त (Vivah Muhurat)

01 दिसंबर 2021, दिन: बुधवार
02 दिसंबर 2021, दिन: गुरुवार
06 दिसंबर 2021, दिन: सोमवार
07 दिसंबर 2021, दिन: मंगलवार
11 दिसंबर 2021, दिन: शनिवार
13 दिसंबर 2021, दिन: सोमवार

खरमास 2021 का समापन (Kharmas 2021)

खरमास या मलमास का समापन मकर संक्रांति के दिन होता है. इस दिन सूर्य धनु राशि से निकलकर मकर राशि में प्रवेश करता है. मकर संक्रांति को सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण होते हैं. अगले वर्ष 2022 में मकर सं​क्रांति 14 जनवरी दिन शुक्रवार को है. ऐसे में खरमास का समापन 14 जनवरी 2022 को होगा. मकर संक्रांति से मांगलिक कार्य प्रारंभ होने लगेंगे. फिर से विवाह, सगाई, तिलक, मुंडन, गृह प्रवेश आदि जैसे कार्य होने लगेंगे. अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

Exit mobile version