7 सितंबर से फिर दौड़ेगी दिल्ली मेट्रो, लेकिन सफर के लिए कई शर्तें लागू

दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में रहने वाले लोगों के लिए बड़ी राहत वाली खबर है कि वे 7 सितंबर, सोमवार से फिर से मेट्रो (Metro Train) ट्रेन की सवारी कर सकेंगे. मेट्रो ट्रेन संचालन के लिए केंद्र ने गाइड लाइन जारी कर दी हैं. केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने मेट्रो (Delhi Metro) में यात्रा के लिए खास दिशा-निर्देश जारी किए हैं. 

तीन चरणों में चलेगी मेट्रो

फेज-1 में 7 सिंतबर से येलो लाइन मेट्रो (Yellow Line Metro) ट्रेन श्यामपुर बादली से हुडा सिटी सेंटर (Huda City Centre) तक चलाई जाएगी.

फेज-2 में 9 सितंबर से ब्ल्यू (Blue Line), पिंक (Pink Line) और गुड़गांव लाइन (Gurgaon Line) पर मेट्रो ट्रेन चलाई जाएंगी. 

फेज-3  में 10 सितंबर से रेड लाइन (Red Line) पर गाजियाबाद से रिठाला के बीच, बहादुरगढ़ लाइन (Bahadurgarh line), फरीदाबाद लाइन (Faridabad line) और एयरपोर्ट लाइन पर ट्रेन सर्विस शुरू की जाएगी. 

रोजना होगी समीक्षा

मेट्रो यात्रा की रोजाना समीक्षा की जाएगी और फीडबैक के आधार पर 12 सितंबर से दिल्ली मेट्रो सर्विस सामान्य रूप से चलने लगेगी.

मेट्रो ट्रेन के फेरे (फ्रीक्वेंसी) के बारे में उन्होंने बताया कि फिलहाल 5-7 मिनट के अंतराल पर ट्रेन चलाई जाएगी. पहले हर 2-2.5 मिनट में ट्रेन चलती थी.

साथ ही सितंबर मासिक राशिफल के बारे में जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

नए दिशा निर्देश

हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) ने बताया कि मेट्रो में सवारी के लिए मास्क (Face Mask) पहनना, सुरक्षित दूरी ( social distancing) जैसे नियमों का पालन करना होगा. मेट्रो ट्रेन यात्रा के लिए सिर्फ स्मार्ट कार्ड ही चलेगा और कैशलेस तरीके से स्मार्ट कार्ड रिचार्ज होंगे.

– कंटेनमेंट जोन में एंट्री और एग्जिट गेट बंद रहेंगे.

– मास्क के बगैर आने वाले को वहीं मास्क खरीदना होगा.

– सैनिटाइजर का इस्तेमाल अनिवार्य होगा. 

– प्लेटफॉर्म, मेट्रो के अंदर भीड़भाड़ न हो, इसका पालन करना होगा.

– थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही यात्री को मेट्रो से यात्रा करने दी जाएगी.

– समय-समय पर पूरे स्टेशन को सैनिटाइज किया जाएगा.

– यात्रियों से कम सामान के साथ यात्रा करने के लिए कहा जाएगा.

– मेट्रो कोच के अंदर लोगों को एक मीटर की दूरी बनाकर रखनी होगी.

– इसके लिए ट्रेन के अंदर फ्लोर पर और सीटों पर मार्किंग की जाएगी.

– ट्रेन के एयर कंडीशनिंग सिस्टम को भी कंट्रोल किया जाएगा.

– ट्रेन में ताजा हवा का सर्कुलेशन ज्यादा हो, इसके लिए एयर कंडीशनिंग सिस्टम में बदलाव किए जाएंगे.

– स्टेशन, प्लेटफॉर्म या कोच के अंदर भीड़ न हो, इसके लिए सभी जगहों पर मेट्रो स्टाफ, पुलिस और सिविल डिफेंस वॉलंटियर्स भी तैनात किए जाएंगे.

अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here