Covid-19 के प्रसार को रोकने के लिए दिल्ली मेट्रो ने कसी कमर, सख्ती बरतने का फैसला

कोविड-19 मामलों में उछाल को देखते हुए, दिल्ली मेट्रो ने स्टेशनों और ट्रेनों के अंदर फेस मास्क पहनने और सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के उपायों को सुदृढ़ करने के लिए अपनी ड्राइव तेज करने का फैसला किया है। दरअसल पिछले कुछ दिनों से दिल्ली मेट्रो में यात्रियों की ओर से लापरवाही देखने को मिल रही है। काफी लोग ठीक तरीके से मास्क पहने नजर नहीं आते और एक सीट छोड़कर दूसरी सीट पर बैठने के नियम का भी सही ढंग से पालन नहीं किया जा रहा है, जिससे संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ गया है। इस बीच अब दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) ने इस दिशा में और भी सख्ती बरतने का फैसला किया है।

मौजूदा कोविड सुरक्षा प्रोटोकॉल के अनुसार, थर्मल स्क्रीनिंग और हाथों में सैनिटाइजर लगाने के बाद सभी यात्रियों को स्टेशन में प्रवेश करना होता है। उन्हें मास्क के साथ अपने चेहरे को अच्छी तरह से कवर करने के साथ ही मेट्रो में यात्रा के दौरान और मेट्रो परिसर में सामाजिक दूरी का भी पालन करना होता है।

डीएमआरसी में कॉर्पोरेट कम्युनिकेशंस मामलों के कार्यकारी निदेशक अनुज दयाल ने कहा, “अगर ऐसा पाया जाता है कि स्टेशनों पर सामाजिक दूरी का पालन नहीं हो रहा है तो उन स्टेशनों पर यात्रियों के लिए प्रवेश द्वार बंद कर दिए जाएंगे।” इसके अलावा ट्रेनों के अंदर फ्लाइंग स्क्वॉड की संख्या और चेकिंग ड्राइव को बढ़ाया जा रहा है, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि सभी यात्री नियमों का पालन कर रहे हैं। लापरवाही करने वाले यात्रियों को मौके पर ही दंडित किया जाएगा।

डीएमआरसी के एक बयान में कहा गया है, “सामाजिक दूरी के मानदंडों को सख्ती से लागू करने के कारण, यात्रियों को सलाह दी जाती है कि वे अपनी यात्रा की योजना पहले से बना लें और अपने आवागमन के लिए 20-30 मिनट का अतिरिक्त समय दें।”

rgyan app

राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना के मरीजों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है। सरकार सभी से कोरोना से बचाव के लिए सावधानियां बरतने की अपील कर रही है। सार्वजनिक स्थानों और सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करते हुए शारीरिक दूरी और मास्क को जरूरी बताकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इसी दिशा में अब दिल्ली मेट्रो ने भी कमर कस ली है। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखभारत बंद के दौरान दिल्ली में सब्ज़ियां और दूध भी नहीं पहुंचेगा : किसान संगठन
अगला लेखLakshmi Jayanti 2021: 28 मार्च को लक्ष्मी जयंती, सुख-समृद्धि के लिए इस शुभ मुहूर्त में ऐसे करें पूजा