गुरुवार यानी आज के लिए एस्ट्रो टिप्स: आपको करना होगा कोई भी 1 काम शुरू, आइये देखते हैं इसके कितने होंगे फायदे

गुरुवार के दिन इन उपायों से जीवन में ला सकते हैं शुभता

गुरुवार के दिन भगवान विष्णु और देवगुरु बृहस्पति की पूजा करना बहुत शुभ और लाभदायी माना गया है। ज्योतिषशास्त्र में बृहस्पति देव ज्ञान, भाग्य आदि का निर्धारण करने वाले माने गए हैं। शास्त्रों में बताया गया है कि गुरुवार के दिन कोई भी ज्योतिष उपाय करने से देवगुरु बृहस्पति जल्द हमारी समस्याओं का समाधान करते हैं। साथ ही इन उपायों से कुंडली में बृहस्पति मजबूत होता है, इससे इनका प्रभाव बढ़ता है है और इंसान को कभी किसी चीज की कमी नहीं होती है। आइए जानते हैं भाग्योदय के लिए गुरुवार को कौन से उपाय करने चाहिए…

यह भी पढ़े: शुक्रवार और पूर्णिमा के योग में करनी चाहिए गणेशजी के साथ ही महालक्ष्मी की पूजा

सुख-शांति का होता है वास

गुरुवार को केसर, पीला चंदन या फिर हल्दी का दान करना बहुत शुभ माना गया है। ऐसा करने से गुरु मजबूत होता है, जिससे आरोग्य और सुख की वृद्धि होती है। साथ ही घर में सुख-शांति का वास होता है। केसर के दान से परिवार में लड़ाई झगड़े खत्म होते हैं और मान-सम्मान प्राप्त होता है।

मां सरस्वती का मिलता है आशीर्वाद

गुरुवार को कॉपी-पुस्तक का दान बहुत उत्तम माना गया है। मान्यता है कि इनका दान करने से ज्ञान विद्या का विकास होता है और माता सरस्वती का आशीर्वाद भी मिलता है। लेकिन ध्यान रखें कि कॉपी-किताब फटी ना हो, इससे आपका ही नुकसान हो सकता है।

इंसान का है सबसे बड़ा धन

दवाइयों का दान करना सर्वश्रेष्ठ माना गया है। बताया गया है कि गुरुवार के दिन दवाइयों को दान करने से हमेशा आपका स्वास्थ्य सही रहता है और स्वर्ग में स्थान मिलता है। शास्त्रों में बताया गया है कि अच्छा स्वास्थ्य ही इंसान का सबसे बड़ा धन है। दवाइयों के रूप में आप इंसान को सबसे बड़ा धन दे रहे हैं।

खुलेंगे धन समृद्धि के मार्ग

गुरुवार को फलों का दान करना बहुत शुभ माना गया है। आप किसी जरूरतमंद या गरीब को पीले फलों का दान करें। ऐसा करने से आपके घर में धन समृद्धि के मार्ग खुलेंगे और रुके हुआ धन भी प्राप्त होता है।

ज्ञान में होती है उन्नति

किसी बुजुर्ग व्यक्ति या पिता के पैर छूकर हर गुरवार उनसे आशीर्वाद लीजिए, संभव हो सके तो कोई उपहार भी दीजिए। ज्योतिषशास्त्र में इन्हें गुरू का प्रतिनिधि माना गया है। इससे गुरु बलवान होते हैं। गुरु धर्म, ज्ञान और समृद्धि के ग्रह हैं, जिससे इन विषयों में उन्नति होती है।