Home ज्योतिष वास्तु टिप्स सपने में दिखें ये चीजें तो समझ लें कि आपको हमेशा मिलता...

सपने में दिखें ये चीजें तो समझ लें कि आपको हमेशा मिलता रहेगा सुख-साधन

अक्सर लोग आपस में एक-दूसरे से बात करते हैं कि कल मैंने सपने में वो चीज़ देखी थी या मैं किसी बड़ी जगह पर गया था या मैं आकाश में उड रहा था, इस तरह की बहुत-सी चीज़ें होती हैं, जो हमें अक्सर सपने में दिखायी देती हैं। लेकिन ये सपने केवल एक सवाल बनकर दिमाग में रह जाते हैं, क्योंकि हमें इनका जवाब नहीं पता होता। आपके उन्हीं सवालों का जवाब देने के लिये।

सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार सपने में दिखायी देनी वाली चीज़ों से व्यक्ति के जीवन या उसके भविष्य के बारे में बहुत कुछ पता लगाया जा सकता है। कहते हैं अगर रात के प्रथम प्रहर में सपने देखे जाये, तो उसका एक वर्ष में शुभाशुभ फल प्राप्त होता है। अगर दूसरे प्रहर में देखा जाये, तो नौ महीनों के अंदर उसका फल मिलता है। इसी तरह से रात्रि के तीसरे प्रहर में सपने देखने पर तीन महीनों में, चौथे प्रहर में देखने पर एक महीने में और रात्रि खत्म होने में जब कुछ ही समय रह जाये, तो उस समय सपने देखने पर दस दिन के अंदर और भोर, यानी सुबह के समय सपने देखने पर तुरंत फल मिलते हैं।

सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार सभी सपनों का अपना एक अलग और विशेष महत्व है। सपने मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं। एक इष्ट फल को बताने वाले, यानी पॉजिटिव चीज़ों को बताने वाले और दूसरे निगेटिव चीज़ों को बताने वाले।

सामुद्रिक शास्त्र में आज आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए उन सपनों के बारे में जिनसे आपको द्रव्य लाभ होता है। सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार अगर आपको सपने में कोई देवी-देवता, ब्राह्मण, चन्द्रमा, छत्र, भूमि, राजा, सफेद रंग का कलश या घड़ा, साथ ही सफेद वस्त्र धारण किये हुए बहुत-से सुंदर आभूषणों से अलंकृत महिला, बैल और ऊंचा पर्वत दिखायी दे।

अगर आप सपने में दूध देखें, बरगद का पेड़ देखें या खुद को किसी पेड़ पर चढ़ते, उतरते देखें या किसी जलाशय आदि में खुद को तैरते हुए देखें या फिर सपने में आपको कहीं फूलमाला मिल जाये, तो इन सब चीज़ों का मतलब है कि आपको द्रव्य लाभ होगा। अगर मार्किट की भाषा में बात करें, तो इसे लिक्विडिटी कहते हैं और मार्किट में लिक्विडिटी का मतलब होता है कि किसी चीज़ की निरंतर उपलब्धता, यानी सीधे शब्दों में कहें तो आपके पास मौजूद सुख-साधन निरंतर बने रहेंगे। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

Exit mobile version