पानी खड़े होकर पीना चाहिए या बैठकर? जानें कौन सा तरीका सेहत के लिए सही

अक्सर लोगों को खड़े होकर पानी पीने की आदत होती है। किसी को काम की जल्दबाजी है तो किसी को पानी पीने के लिए बैठने में आलस आता है। ऐसे में लोग खड़े-खड़े ही पानी पी लेते हैं। खड़े होकर पानी पीना या घूमते टहलते हुए पानी पानी आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। खासतौर इसका असर आपके लिवर पर पड़ता है। इसलिए बेहतर होगा कि आप खड़े होकर पानी पीने की बजाय बैठकर इसका सेवन करें। जानिए खड़े होकर पानी पीने से क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं?

क्यों नहीं पीना चाहिए खड़े होकर पानी-

आयुर्वेद में खड़े होकर पानी पीने की मनाही है। इस तरह पानी पीने से एक तो व्यक्ति की प्‍यास पूरी तरह नहीं बुझती और दूसरा उसके शरीर के कई महत्‍वपूर्ण अंगों पर भी बुरा असर पड़ता है। आयुर्वेद के मुताबिक, जब हम खड़े होकर पानी पीते हैं तो, इससे हमारे पेट पर अधिक प्रेशर पड़ता है, क्योंकि खड़े होकर पानी पीने पर पानी सीधा इसोफेगस के जरिए प्रेशर के साथ पेट में तेजी से पहुंचता है। इससे पेट और पेट के आसपास की जगह और डाइजेस्टिव सिस्टम को नुकसान पहुंचता है।

बैठकर पीना चाहिए पानी-

अध्ययन के अनुसार पानी बैठकर पीने से पानी सही तरीके से पचकर शरीर के सभी सेल्स तक पहुंचता है। व्यक्ति की बॉडी को जितने पानी की अवश्यकता होती है उतना पानी सोखकर वह बाकी का पानी और टॉक्सिन्स यूरीन के जरिए शरीर से बाहर निकल देता है। बैठकर पानी पीने से खून में हानिकारक तत्व नहीं घुलते बल्कि ये खून साफ करते हैं। इसीलिए बैठकर पानी पीने को अच्छा माना जाता है।

खड़े होकर पानी पीने के नुकसान-

गठिया की परेशानी हो सकती है

खड़े होकर पानी पीने की वजह से पानी का प्रेशर आपके शरीर से होकर जोड़ों में जाकर रुक जाता है। जिससे हड्डियों और जोड़ों पर बुरा असर डाल सकता है, साथ ही हड्डियां कमजोर होना शुरू हो जाती हैं। ऐसे में कमजोर हड्डियों के कारण व्यक्ति गठिया जैसी परेशानियां हो सकती हैं।

किडनी के लिए घातक-

जब कोई खड़े होकर पानी पीता है तो पानी बिना फिल्टर हुए प्रेशर के साथ पेट में जाता है। जिसकी वजह से सभी इंप्योरिटीज ब्लैडर में जमा हो जाती हैं। जो किडनी को नुकसान पहुंचा सकता है।

हो सकती है अपच की समस्या-

खड़े होकर पानी पीने की वजह से अपच की समस्या हो सकती है। दरअसल पानी बैठ कर पीने से मसल्स और नर्वस सिस्टम रिलैक्स हो जाती हैं जिसकी वजह से पानी आसानी से पच जाता है। लेकिन खड़े होकर पानी पीने से ऐसा नहीं होता और ऐसे में आपको कब्ज की समस्याएं हो सकती हैं।

फेफड़ों पर पड़ता है बुरा असर-

जब आप खड़े होकर पानी पीते हैं तो फूड और विंड पाइप में होने वाली ऑक्सीजन की सप्लाई रुक जाती है जिससे फेफड़ों और दिल पर बुरा असर पड़ता है।

एसिडिटी-

खड़े होकर पानी पीना आपको एसिडिटी की समस्या पैदा कर सकता है। जब आप खड़े होकर पानी पीते हैं तो ग्रासनली के निचले हिस्से में समस्या हो जाती है। जिसकी वजह से पेट में जलन होने लगती है। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.com
पिछला लेखVastu Tips: बर्बादी का संकेत देते हैं घर की ऐसी दीवार, ये वास्तु टिप्स बनाएंगे अमीर
अगला लेखMahashivratri 2022: महाशिवरात्रि विशेष: कैसे हुई रुद्राक्ष की उत्पत्ति, जानें प्रकार एवं लाभ