असम: बीजेपी नेता की गाड़ी में EVM रखने के मामले में 4 अधिकारियों को चुनाव आयोग ने किया सस्पेंड, फिर वोटिंग का आदेश

चुनाव आयोग ने असम में उन चुनाव अधिकारियों के खिलाफ सख्त कदम उठाया है जिन्होंने भारतीय जनता पार्टी के नेता की गाड़ी में इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन रख दी थी। चुनाव आयोग ने इस मामले में 4 चुनाव अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है और जिस जगह पर वोटिंग के लिए वोटिंग मशीन का इस्तेमाल हुआ था वहां पर फिर से चुनाव कराने का आदेश दिया है। चुनाव आयोग ने इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन के ट्रांसपोर्ट प्रोटोकाल के उलंघन का मामला माना है और उसी को ध्यान में रखते हुए 4 अधिकारियों को सस्पेंड किया गया है।

astrologi report

हालांकि चुनाव आयोग की जांच में EVM और VVPAT सील बंद पाया गया है। जांच में पता चला है कि चुनाव के बाद पोलिंग पार्टी जिस गाड़ी में EVM लेकर निकली थी वो रास्ते मे खराब हो गयी थी, इसलिए दूसरी गाड़ी का इंतजाम किया गया था। लेकिन जांच में यह भी पता चला कि जिस नई गाड़ी में EVM को भेजा गया था वह गाड़ी BJP कैंडिडेट की पत्नी के नाम से रजिस्टर्ड है।

असम से एक चौंकाने वाला वीडियो सामने आया है। ये वीडियो असम के पथरकंडी का बताया जा रहा है जहां सफेद रंग की बोलेरो गाड़ी में ईवीएम मिली है। इस कार का नंबर AS10 B 0022 है। सोशल मीडिया पर कार में ईवीएम मिलने का वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें ये दावा किया जा रहा है कि ये कार पथरकंडी के विधायक और बीजेपी उम्मीदवार कृष्णेंदु पॉल की है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी इस वीडियो को शेयर किया है। प्रियंका ने बीजेपी नेता की गाड़ी में ईवीएम मिलने का दावा करते हुए चुनाव आयोग पर सवाल उठाए हैं।

प्रियंका गांधी ने ट्विटर पर लिखा है, ”हर बार प्राइवेट गाड़ियों में ईवीएम ले जाने के वीडियो सामने आते हैं। ताज्जुब की बात नहीं कि इनमें कुछ चीजें कॉमन होती हैं। निजी गाड़ियां बीजेपी उम्मीदवारों और उनके सहयोगियों की होती हैं। वीडियो को महज घटना बताकर खारिज कर दिया जाता है..सच ये है कि इस तरह के कई मामले सामने आ रहे हैं लेकिन इनके बारे में कुछ नहीं किया जा रहा है। चुनाव आयोग को इन शिकायतों पर निर्णायक रूप से कार्रवाई करनी चाहिए और सभी राष्ट्रीय पार्टियों को ईवीएम के इस्तेमाल पर दोबारा विचार करना चाहिए।”

rgyan app

बीजेपी कैंडिडेट की कार पर बवाल छिड़ा है। इसी बीच चुनाव आयोग के सूत्रों से बड़ी खबर आ रही है। चुनाव आयोग का दावा है कि जिस गाड़ी से ईवीएम ले जाई जा रही थी वो रास्ते में खराब हो गई थी इसके बाद अधिकारियों ने रास्ते में एक गाड़ी से लिफ्ट मांगी और बाद में पता चला कि जिस गाड़ी में लिफ्ट ली गई वो बीजेपी कैंडिडेट की है। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखGood Friday 2021: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ईसा मसीह के संघर्ष और बलिदान को किया याद
अगला लेखदैनिक राशिफल 03 अप्रैल 2021: शनिवार को धनु राशि में होंगे चंद्र देव, इन चार राशियों की बढ़ेंगी मुश्किलें, हो जाएं सावधान