इक्विटॉस स्मॉल बैंक के आईपीओ के आईपीओ में आज निवेश का आखिरी मौका

इक्विटॉस स्मॉल फाइनेंस बैंक के आईपीओ में आज यानी गुरुवार को निवेश का आखिरी मौका है. यह आईपीओ निवेश के लिए मंगलवार को खुला था.
रिटेल कैटेगरी में यह इश्यू पूरी तरह सब्सक्राइब हो गया है. आईपीओ के तहत 280 करोड़ रुपये का इश्यू लाया गया है. इसके तहत 7.20 करोड़ शेयर बिक्री के लिये पेशकश की गयी हैं. कंपनी ने आईपीओ में शेयर का प्राइस बैंड 32 से 33 रुपये रखा है. इक्विटॉस स्मॉल फाइनेंस बैंक ने 35 बड़े (एंकर) निवेशकों को 42,327,271 शेयर आवटित कर 139.68 करोड़ रुपये जुटाये हैं. आइए जानिए नवरात्र के छठे दिन.

ipo

इस इश्यू में 22 अक्टूबर तक निवेश किया जा सकता है. इस इश्यू की वैल्यूएशन भले ही एयू एसएफबी और उज्जीवन एसएफबी से कम हैं. इसकी एसेट क्वालिटी दोनों कंपनियों की तुलना में कमजोर है, क्योंकि इसने व्हीकल्स लोन अधिक दिए हैं. दूसरे शब्दों में कहें तो प्रतिद्वंद्वी फर्मों की तुलना मे इसका रिटर्न अनुपात काफी कमजोर नजर आता है.

जानिए इश्यू से जुड़ी मुख्य बातें:

आईपीओ की तारीख: 20 अक्टूबर से 22 अक्टूबर
आईपीओ का भाव: 32-33 रुपये
आईपीओ का साइज: 518 करोड़ रुपये
लॉट साइज: 450 शेयर

rgyan app

कैसी है बैंक की वित्तीय सेहत?

चेन्नई आधारित इक्विटास एसएफबी को साल 2016 में भारतीय रिजर्व बैंक से लाइसेंस मिला था. वित्त वर्ष 2017-18 से वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान इसकी लोन बुक 10,781 करोड़ रुपये से 15,923 करोड़ रुपये पर आ गई है. वित्त वर्ष 2019-20 की जून तिमाही तक यह 17,213 करोड़ रुपये तक पहुंच गई थी.

इस तिमाही के दौरान इस स्मॉल फाइनेंस बैंक के कुल कारोबार में स्मॉल बिजनेस लोन, माइक्रो फाइनेंस और वाहन लोन की हिस्सेदारी क्रमश: 42 फीसदी, 23 फीसदी और 24 फीसदी है.

वित्त वर्ष 2017-18 से वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान इक्विटास एसएफबी की कुल आय 1,772.8 करोड़ रुपये से बढ़कर 2,927.8 करोड़ रुपये पहुंच गई. इस दौरान इसका नेट प्रॉफिट भी 31.8 करोड़ रुपये से 243.6 करोड़ रुपये रहा. Reach out to the best Astrologer at Jyotirvid.

इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक का कासा (करेंट अकाउंट-सेविंग अकाउंट) अनुपात 20 फीसदी है, जो प्रतिद्वंद्वी फर्मों के 14-16 फीसदी से अधिक है. हालांकि, इसकी फंड की लागत 7.6 फीसदी है, जो उज्जीवन एसएफबी की 7.7 फीसदी और एयू एसएफबी 7.2 फीसदी की तुलना में बहुत बेहतर नहीं है.

इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक का सकल एनपीए 2.7 फीसदी है, जो उज्जीवन के एक फीसदी और एयू के 1.7 फीसदी की तुलना में काफी अधिक है. इसका प्रावधान कवरेज अनुपात 48.8 फीसदी है , जबकि प्रतिद्वंद्वियों का यह रेशियो 60 फीसदी से अधिक है.

कैसी है वैल्यूएशन?

आईपीओ के बाद की इक्विटी के आधार पर आईपीओ की वैल्यूएशन 1.2 गुना के प्राइस-टू-बुक वैल्यू पर है. यह उज्जीवन एसएफबी की 1.7 गुना और एयू एसएफबी की 4.9 गुना की वैल्यूएशन से काफी कम है. यह इक्विटास की हल्की एसेट क्वालिटी और प्रावधान स्तर को दर्शाता है. और अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here