Vastu Tips: इस दिशा में मुख करके जप करने से धन, वैभव और ऐश्वर्य की होती है प्राप्ति

वास्तु शास्त्र में आज जानिए अन्य दिशाओं में जप करने के बारे में। सामान्य तौर पर तो उत्तर या पूर्व दिशा में ही मुख करके पूजा-पाठ या जप किया जाता है, लेकिन कभी-कभी किसी फल की प्राप्ति के लिये अन्य दिशाओं में भी जप किया जाता है। पश्चिम दिशा की ओर मुख करके जप करने से धन, वैभव व ऐश्वर्य कामना की पूर्ति होती है।

दक्षिण दिशा में मुख करके जप करने से षट्कर्मों की प्राप्ति होती है। उत्तर-पश्चिम, यानी वायव्य कोण की ओर मुख करके जप करने से शत्रु व विरोधियों पर विजय प्राप्त होती है. दक्षिण-पूर्व, यानी आग्नेय कोण में मुख करके जप करने से आकर्षण व सौंदर्य कामना की पूर्ति होती है तथा दक्षिण-पश्चिम, यानी नैऋत्य कोण में मुख करके जप करने से किसी के दर्शन की कामना पूरी करता है। वास्तु शास्त्र में ये थी चर्चा अलग-अलग दिशाओं में मुख करके पूजा-पाठ या जप करने के बारे में। उम्मीद है आप इस वास्तु टिप्स को अपनाकर जरुर लाभ उठाएंगे। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखAaj Ka Panchang 10 October 2021: जानिए रविवार का पंचांग, शुभ मुहूर्त और राहुकाल
अगला लेखShardiya Navratri 2021: मां दुर्गा के इन मंत्रों के जाप से मन और आत्मा को मिलेगी शांति