Fino Payments Bank IPO: आज खुला गया आईपीओ, एंकर इनवेस्टर्स से पहले ही 539 करोड़ रुपए जुटाए

फिनटेक पेमेंट कंपनी Fino Payments Bank का IPO आज यानी 29 अक्टूबर को Open हो गया है. इस इश्यू को आप 2 नवंबर तक सब्स्क्राइब कर सकते हैं. कंपनी इश्यू से 1200 करोड़ रुपए जुटाने वाली है. इस IPO में 300 करोड़ रुपए का फ्रेश इश्यू और 900.29 करोड़ रुपए का ऑफर फॉर सेल (OFS) शामिल है. कंपनी के प्रमोटर्स OFS में 1,56,02,999 शेयर बेचेंगे.

आईपीओ खुलने से एक दिन पहले कंपनी ने एंकर इनवेस्टर्स से 538.78 करोड़ रुपए जुटाए हैं. कंपनी ने बताया कि उसने 577 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से एंकर इनवेस्टर्स को 93,37,641 इक्विटी शेयर जारी किए हैं और 539 करोड़ रुपए जुटाए हैं.

एंकर इनवेस्टर्स

कंपनी के इश्यू में निवेश करने वाले एंकर इनवेस्टर्स में पाइनब्रिज ग्लोबल फंड्स, HSBC, इनवेस्को ट्रस्टी, ITPL इनवेस्को, मैथ्यूज एशिया स्मॉल फाइनेंस कंपनीज फंड, फिडेलिटी फंड्स, सोसायटे जेनराली और सेगनाती इंडिया मॉरिशस शामिल हैं. इसके अलावा कुछ दूसरे एंकर निवेशकों ने भी निवेश किया है. इनमें BNP पारिबा, TATA MF, SBI लाइफ इंश्योरेंस, मोतीलाल ओसवाल MF और आदित्य बिड़ला सनलाइफ ट्रस्टी हैं.

ब्रोकरेज फर्मों का मानना है कि कंपनी के एसेट लाइट मॉडल और लॉन्ग टर्म ग्रोथ की संभावनाएं होने के बावजूद इसका हाई वैल्यूएशन निवेशकों की परेशानी बढ़ा सकता है. यही वजह है कि ब्रोकरेज फर्म इसमें सावधानी से निवेश करने की सलाह दे रहे हैं.

मार्केट कैप 4,8015 करोड़ रुपए

Marwadi Shares and Finance के मुताबिक, कंपनी का इश्यू प्राइस 560-577 रुपए शामिल है. इस हिसाब से लिस्टिंग के बाद कंपनी के शेयरों का प्राइस-टू-बुक वैल्यू 10.58 और मार्केट कैप 4,8015 करोड़ रुपए है.

ब्रोकरेज फर्म ने इसे सब्सक्राइब करने की सलाह देते हुए कहा है, “कंपनी का बिजनेस मॉडल बेहतर है और इसमें बहुत ज्यादा एसेट्स की जरूरत नहीं है. इसके साथ ही ऑपरेशनल एक्सपीरियंस और कामकाम के बेहतर अनुभव को देखते हुए निवेश की सलाह दी गई है. कंपनी का एक यूनीक DTP फ्रेमवर्क है जिससे यह बेहतर ढंग से मार्केट को टारगेट कर सकता है.”

astro

इश्यू का 10% रिटेल इनवेस्टर्स के लिए

रिलायंस सिक्योरिटीज ने बताया कि Fino Payments Bank की कई लिस्टेड प्रतिद्वंदी कंपनी है. बैंक की 95% आमदनी फीस और कमीशन से होती है. कंपनी की ग्रोथ देश में डिजिटल पेमेंट का दायरा बढ़ने पर निर्भर करता है. Fino Payments ने इश्यू का 10% रिटेल इनवेस्टर्स के लिए तय किया है. वहीं QIB के लिए 75% और NII के लिए 15% रिजर्व है. कंपनी ने अपने कर्मचारियों के लिए 3 करोड़ शेयर अलग किए हैं. अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतhindi.news18.com
पिछला लेखVastu Tips: दक्षिण-पूर्व दिशा में कराएं इस रंग का पेंट, मिलेगा लाभ
अगला लेखDiwali Foods: दिवाली में नॉन वेज क्यों नहीं खाना चाहिए, पंडित कमलेश जोशी बता रहे हैं इसके कारण