बुधवार को भगवान गणेश को ऐसे चढ़ाएं दूर्वा, सुख संपत्ति की होगी प्राप्ति

भाद्रपद कृष्ण पक्ष की उदया अमावस्या तिथि और बुधवार का दिन है। अमावस्या तिथि सुबह 8 बजकर 12 मिनट तक ही थी उसके बाद आज भाद्रपद शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि शुरु हो गई है। प्रतिपदा तिथि आज पूरा दिन पूरी रात पार कर गुरुवार भोर 5 बजकर 20 मिनट तक रहेगी। सुबह 8 बजकर 12 मिनट से देर रात 2 बजकर 7 मिनट तक कुमार योग रहेगा। कुमार योग विद्या प्राप्ति और किसी से मैत्री संबंधों के लिये बहुत ही शुभ है। अतः आप इनसे संबंधित कार्यों के लिये इस दिन का लाभ उठा सकते हैं।

बुधवार रात 9 बजकर 15 मिनट तक परिध योग भी रहेगा। इस योग में शत्रु के विरूद्ध किए गए कार्य में सफलता मिलती है अर्थात शत्रु पर विजय अवश्य मिलती है। इसके अलावा पूरा दिन पूरी रात पार कर देर रात 2 बजकर 7 मिनट तक मघा नक्षत्र रहेगा। मघा नक्षत्र का आकाशमंडल में दसवां स्थान माना जाता हैं। मघा का अर्थ है – बलवान या महान। यह नक्षत्र किसी न किसी प्रकार की ताकत तथा प्रभुत्व के साथ जुड़ा होता है। मघा नक्षत्र का प्रतीक चिन्ह राज सिंहासन को माना जाता है।

कुमार योग और परिध योग और मघा नक्षत्र के दौरान शुभ फलों की प्राप्ति के लिए आपको कौन-से उपाय करने चाहिए। जानिए आचार्य इंदु प्रकाश से।

  • अगर आप अपने अधिकारियों के साथ बेहतर तालमेल बनाये रखना चाहते हैं, और चहते है कि आपकी किस्मत के सितारे बुलंद हो जाये, तो बरगद के पेड़ का एक पत्ता लेकर आयें और उस पत्ते पर हल्दी से स्वास्तिक का चिन्ह बनाएं। अब उस बरगद के पत्ते को अपने घर के मंदिर में रख दें। और ऑनलाइन कनिपकम विनायका मंदिर के दर्शन करें। आज के दिन ऐसा करने से अधिकारियों के साथ आपका तालमेल बेहतर बना रहेगा और आपकी किस्मत भी चमक उठेगी। लेकिन यहां इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि उस पत्ते को अगले दिन बहते पानी में प्रवाहित कर दें।
  • अगर आपको अपनी मेहनत का उचित फल नहीं मिल पा रहा है और आपकी तरक्की कहीं रूक-सी गयी है, तो आज के दिन दुर्वा से बनी हुई एक गांठ और एक लोटे में हल्दी मिला हुआ जल लें। अब दुर्वा की गांठ को हल्दी मिले हुए जल में डुबोकर भगवान गणेश की मूर्ति पर जल छिड़कें। साथ ही भगवान को बेसन के लड्डू का भोग लगाएं। साथ ही आज इंटर्नेट पर श्री सिद्धिविनायक मंदिर के दर्शन करें। आज के दिन ऐसा करने से आपकी मेहनत रंग लायेगी और आप तरक्की की ओर कदम बढ़ाते जायेंगे।
  • अगर आप समाज में अपने परिवार का नाम ऊंचा करना चाहते हैं, तो इसके लिये मघा नक्षत्र में बरगद के पेड़ का बाँदा लेकर आएं और उस बांदे को साफ करके, लाल कपड़े में बांधकर अपने मन्दिर में रख लें। अब से रोज पूजा के समय उस बांदे की भी पूजा करें। आज के दिन ऐसा करने से आप समाज में अपने परिवार का नाम ऊंचा करने में सफल होंगे।
  • घर में स्थायी रूप से सुख-समृद्धि बनाए रखने के लिए अगर संभव हो तो मघा नक्षत्र में अपने घर के बाहर बरगद का पेड़ लगाएं। अन्यथा किसी भी महीने में पड़ने वाले मघा नक्षत्र से अगले मघा नक्षत्र तक रोज़ बरगद की जड़ में जल चढ़ाएं और नमस्कार करें। ऐसा करने से आपकी सुख-समृद्धि हमेशा बनी रहेगी।
  • यदि आप एक अच्छा राजनेता बनना चाहते हैं या आप अपना जीवन एक शासक की भांति जीना चाहते हैं, तो इसके लिए मघा नक्षत्र में केतु के मंत्र का जाप करें। मंत्र है- “ऊँ स्रां स्रीं स्रौं स: केतवे नम:” .. ऐसा करने से समाज में आपका रुतबा बढ़ेगा और आप एक अच्छे शासक होंगे।
  • यदि आपकी दुकान पर अधिक बिक्री नहीं हो पा रही है या दुकान में ग्राहकों की कमी रहती है, तो इसके लिए मघा नक्षत्र में सुबह के समय बरगद के पेड़ के पास जाकर नमस्कार कहें और आटे से बने चौमुखे दिये में घी डालकर बाती जलाएं। ऐसा आप प्रत्येक मघा नक्षत्र के दौरान कर सकते हैं। इससे आपके व्यापार की गति निरंतर बढ़ती जायेगी।
  • अगर आपके दाम्पत्य जीवन में अब पहले जैसी मधुरता नहीं रही, आपका जीवनसाथी आपसे ठीक तरह से बात नहीं करता, तो इसके लिए मघा नक्षत्र के दौरान एक बर्तन में जल लेकर, उसमें कुमकुम डालें। अब उस जल को मन में प्रार्थना करते हुए बरगद के पेड़ की जड़ में चढ़ाएं। ऐसा करने से आपके रिश्तों में मिठास बढ़ने लगेगी।
  • अगर आपकी दोस्ती में सब अच्छा चल रहा है और आप चाहते हैं कि हमेशा ऐसा ही चलता रहे, तो अपनी दोस्ती के रिश्ते को मजबूत करने के लिये आज के दिन तो आज के दिन आपको नागकेसर के फूल या बीज को पीसकर उसका तिलक अपने मस्तक पर लगाना चाहिए और अगर संभव हो तो उस व्यक्ति को भी तिलक लगाना चाहिए, जिससे आप दोस्ती करना चाहते हैं या अपने दोस्ती के रिश्ते को मजबूत करना चाहते हैं। साथ ही बुद्धदेव का ध्यान करके प्रणाम करना चाहिए। आज के दिन ऐसा करने से आपकी दोस्ती का रिश्ता और भी मजबूत हो जायेगा।
  • अगर आप हाईअर एजुकेशन लेना चाहते हैं, लेकिन आपको किसी प्रकार की परेशानी आ रही है, तो आज के दिन आपको मां सरस्वती के इस मंत्र का एक माला, यानी 108 बार जप करना चाहिए। मंत्र है – “ॐ ऐं ह्रीं श्रीं क्लीं सरस्वत्यै नमः।” मंत्र जप के साथ ही आपको विद्या यंत्र भी धारण करना चाहिए। आज के दिन ऐसा करने से आपको हाईअर एजुकेशन लेने में किसी प्रकार की परेशानी नहीं आयेगी।
  • यदि आपके घर में हमेशा किसी न किसी चीज़ का अभाव बना रहता है, तो मघा नक्षत्र में बरगद के पेड़ के पास जाकर, उसकी जड़ और पत्तों पर गंगाजल से छींटे मारें और फिर धूप दिखाएं। साथ ही प्रार्थना करें कि हे अन्नपूर्णा देवी मेरे घर में सदा अन्न के भंडार भरे रहें और कभी किसी चीज़ की कमी न हो। इसके बाद वापस घर आ जायें।  ऐसा करने से आपको कभी किसी चीज़ की परेशानी नहीं होगी।
  • अगर आप अपनी बुद्धि और वाणी के बल पर दुनिया को जीतना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको माथे पर केसर का तिलक लगाना चाहिए और मन्दिर में सवा किलो मूंग का दान करना चाहिए। आज के दिन ऐसा करने से आप अपनी बुद्धि और वाणी के बल पर दुनिया को जीतने में कामयाब होंगे।
  • यदि आपको अपनी मेहनत का उचित फल नहीं मिल पा रहा और आपकी तरक्की कहीं रूक सी गयी है, तो इसके लिए मघा नक्षत्र में बरगद के पेड़ के पास जाकर, उसकी जटा में गांठ लगा दें और उस पर लाल धागा बांध दें। जब आपको धीरे-धीरे करके उन्नति मिलने लगे, तो उस लाल धागे से बंधी हुई जटा की गांठ को खोल दें। ऐसा करने से आपकी मेहनत रंग लाएगी और आप तरक्की की ओर कदम बढ़ाते जायेंगे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here