Garud Puran: स्त्री हो या फिर पुरुष कभी नहीं करना चाहिए ये 5 काम, मां लक्ष्मी कर देगी आपका त्याग

आज के समय में हर कोई चाहता है कि इसके घर पर कभी भी धन की कमी न हो। मां लक्ष्मी की कृपा हमेशा बनी रहे। जिससे की आपके घर में हमेशा सुख-शांति बनीं रहे। इसीलिए मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए विभिन्न तरीके के उपाय अपनाते हैं। गरुड़ पुराण के अनुसार किसी भी मनुष्य को ये 5 काम नहीं करना चाहिए। इससे मां लक्ष्मी रुष्ट हो सकती है और आपका त्याग कर सकती हैं। जानिए इन कामों के बारे में।

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

श्लोक

कुचैलिनं दन्तमलोपधारिणं ब्रह्वाशिनं निष्ठुरवाक्यभाषिणम्।

सूर्योदये ह्यस्तमयेपि शायिनं विमुञ्चति श्रीरपि चक्रपाणिम्।।

अर्थ- मैले वस्त्र पहनने वाले दांत गंदे रखने वाले, ज्यादा खाने वाले, निष्ठुर बोलने वाले और सूर्योदय एवं सूर्यास्त के समय सोने वाले स्वयं विष्णु भगवान हों तो उन्हें भी देवी लक्ष्मी त्याग देती हैं।

गंदे कपड़े पहनने वाला

गरुड़ पुराण के अनुसार कोई व्यक्ति अगर गंदे कपड़े पहनता हैं तो मां लक्ष्मी उसका त्याग कर देती हैं। यानी अगर आप साफ-सुथरे कपड़े पहनेंगे तो लोग आपसे लोग दूर नहीं भागेंगे। इसके साथ ही आपका समाज में मान-सम्मान बढ़ेगा। इतना ही नहीं आप साफ कपड़े पहनेंगे तो आपका आत्मविश्वास भी बढ़ेगा जिससे आप कोई भी काम बहुत ही आसानी से कर सकते हैं। इसके विपरीत अगर आपने गंदे कपड़े पहने तो आपको कोई पसंद नहीं करेगा। हर कोई आपसे दूर बना लेगा। जिससे आपके प्यापार, नौकरी आदि पर बुरा असर
पड़ सकता है।

दांत गंदे होना

जिन लोगों के दांत गंदे होते हैं मां लक्ष्मी उनके साथ कभी नहीं रहती हैं। दांत गंदे का मतलब है आपका स्वास्थ्य और स्वभाव। जो लोग अपने दांत साफ नहीं रख पाते हैं वह लोग आलसी स्वभाव के होते है। जिसके कारण कोई भी व्यक्ति इन्हें जिम्मेदारी वाला काम देने से बचता है। इतना ही नहीं दांत गंदे होने के कारण आप पेट सहित कई बीमारियों के शिकार हो सकते हैं।

ज्यादा खाने वाला

जो लोग जरुरत से ज्यादा भोजन करने से मोटापा सहित कई खतरनाक बीमारियों के शिकार हो जाते हैं। ऐसे लोग काम करने में आलस्य करते है। इसके साथ ही यह लोग परिश्रम के बजाय भाग्य पर भरोसा करते हैं। जबकि मां लक्ष्मी ऐसे लोगों के साथ रहना पसंद करती हैं जो लोग कठिन परिश्रम करते हैं।

कठोर बोलने वाला

जो लोग बिना किसी बात के छोटी से छोटी बात पर दूसरे के ऊपर चिल्लाता है। उन्हें अपशब्द कहता है। जो अपने से छोटे लोगों से प्यार और आदर से बात नहीं करता है। मां लक्ष्मी उनके पास कभी नहीं रहती हैं। इसीलिए कहा गया है कि हर किसी को शांत और अच्छे व्यवहार वाला होना चाहिए।

rgyan app

सूर्योदय एवं सूर्यास्त के समय सोने वाले

गरुड़ पुराण के अनुसार यह समय भगवान को याद करने और व्यायाम के लिए निश्चित किए गए हैं। जहां सुबह उठकर एक्सरसाइज करने के ढेरों लाभ है। क्योंकि सुबह के समय वातावरण में ज्यादा ऑक्सीजन होती हैं जो आपके लंग्स के लिए काफी फायदेमंद है। वहीं सूर्यास्त के समय भगवाव को स्मरण करना चाहिए। इससे मन शांत होने के साथ-साथ शरीर में पॉजिटिव एनर्जी का प्रवाह बढ़ जाता है। जो लोग सूर्योदय एवं सूर्यास्त के समय सोते रहते हैं। वह आलसी कहलाते हैं। आलसी स्वभाव के लोगों के पास मां लक्ष्मी कभी नहीं रहती हैं। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखपेट्रोल डीजल को लेकर एक और खुशखबरी, जानिए आपके शहर में क्या हैं तेल के दाम
अगला लेखफांसी की सजा पा चुका तिहाड़ का कैदी है अंबानी के घर विस्फोटक रखने का मास्टरमाइंड? खूंखार आतंकी से मोबाइल जब्त