Garuda Purana: स्त्री हो या पुरुष कभी भी नहीं करना चाहिए ये 5 काम, करना पड़ेगा अपमान का सामना

हर व्यक्ति के जीवन में मान-सम्मान काफी मायने रखता है। जिस व्यक्ति का मान-सम्मान परिवार और समाज में नहीं होता हैं उसका जीना दुभर हो जाता है। इतिहास के पन्नों में हमने कई ऐसे सूर्यवीरों के बारे में पढ़ा हैं जो अपने मान-सम्मान के लिए प्राण भी गवां देते हैं। इसके विपरीत कई लोग ऐसे होते हैं कि अपने कामों के कारण दुनियाभर में अपमानित होते हैं। गरुड़ पुराण में ऐसे ही कुछ कामों के बारे में बताया गया है जिसके कारण आपको अपमान और घृणा का सामना करना पड़ सकता है।

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

श्लोक

दाता दरिद्र: कृपणोर्थयुक्त: पुत्रोविधेय: कुजनस्य सेवा।

परापकारेषु नरस्य मृत्यु: प्रजायते दुश्चरितानि पञ्च।।

अर्थात्- दरिद्र होकर दाता होना, धनवान होने पर भी कंजूस होना, आज्ञाकारी पुत्र का न होना, दुष्ट लोगों की संगत और किसी का अहित करते हुए मृत्यु होना। इन 5 कामों को करने से आप अपमानित हो सकते हैं।

दरिद्र होकर दानी बनना

अगर कोई व्यक्ति अपनी हैसियत से ज्यादा दान करता है तो इससे उसे ही नहीं परिवार के लोगों को भी धन संबंधी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। कई बार तो लोग दिखावे में बढ़-चढ़कर दान करते हैं। लेकिन यह भूल जाते हैं कि इस दिखावे से उनके परिवार पर बुरा असर पड़ेगा और आर्थिक स्थिति खराब हो सकता है। ऐसा करने से आपको अपने लोगों से ही अपमानित होना पड़ सकता है।

धनवान का कंजूस होना

अगर किसी व्यक्ति के पास अधिक धन हैं लेकिन वह हद से ज्यादा कंजूस हैं तो उसे कभी न कभी अपमानित जरूर होना पड़ेगा। सोच-समझकर खर्च करना और अधिक कंजूसी दिखाने में काफी फर्क होता है। कंजूस लोगों की समाज में ज्यादा सम्मान नहीं होता है।

आज्ञाकारी पुत्र न होना

गरुड़ पुराण के अनुसार अगर आपका पुत्र आज्ञाकारी नहीं हैं तो वह कुछ न कुछ ऐसे काम कर देता हैं जिससे आप परिवार और समाज के सामने अपमानित होते हैं। इतना ही नहीं उनकी मनमानी के कारण कई बार पुरे कुटुंब को ही अपमान झेलना पड़ सकता है। इसलिए पुत्र को पिता और परिवार के अन्य सदस्यों की बात जरूर सुननी चाहिए।

दुष्ट लोगों का साथ

कहा जाता है कि जैसे लोगों की संगत होती हैं। उसका कुछ न कुछ असर आपके जीवन पर जरूर पड़ता है। अगर आप बुरे लोगों के साथ रहेंगे तो वह निजी स्वार्थ के लिए आपका नुकसान पहुंता सकते हैं। इसी तरह अगर आप उनके साथ रहेंगे तो आप भी उसी सोच के हो जाएंगे। जिसके कारण आपको परिवार, समाज के सामने शर्मिंदा होना पड़ सकता है। इसलिए आपकी भलाई इसी में है कि आप इन लोगों से दूर ही रहे।

rgyan app

किसी का अहित करते हुए मृत्यु होना

अगर आप किसी का बुरा कर रहे हैं और आपकी मृत्यु हो जाती हैं तो यह अपमान का कारण बन सकता है। आपके द्वारा कमाई गई सालों की इज्जत चुटकियों में धूल में मिल जाती हैं। इतना ही नहीं आपके परिवार और आने वाली पीढ़ियों को भी इस अपमान का सामना करना पड़ सकता है। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखपेट्रोल और डीजल में राहत जारी, जानिए आज आपके शहर में क्या हैं कीमत
अगला लेखउपेंद्र कुशवाहा बने बिहार के MLC, नीतीश कुमार की JDU में किया है अपनी पार्टी का विलय