गुरुवार के दिन भूल कर भी न करें ये काम होता है नुकसान, आइये जानते हैं पूजा करने के सही मंत्र

गुरुवार का दिन भगवान विष्णु का होता है। इस दिन भगवान विष्णु की उपासना करने से वो खुश हो जाते हैं और सारी मनोकामनाएं पूरी कर देते हैं। कहा जाता है कि इस दिन जो लोग अच्छा काम करते हैं उन्हें उसका कई गुणा अधिक लाभ मिलता है। इसलिए इस दिन को बृहस्पति और भगवान श्री विष्णु की आराधना की जाती है। इस दिन उपवास करने, मंत्रों का जाप करना भी लाभकारी होता है। इसके साथ ही इस दिन कुछ कामों को करने से बचना चाहिए। जानिए वो कौन से काम हैं और उन्हें करने से क्या प्रभाव पड़ता है। 

गुरुवार के दिन भूल कर भी न करें ये काम

  • गुरुवार के दिन साबुन से स्नान करने और कपड़े धोने से बचना चाहिए। ऐसा करने से गुरु ग्रह अशुभ होता है जिससे व्यक्ति को भाग्य का साथ नहीं मिलता।
  • ना बाल धोएं ना कटाएं। शास्त्रों के अनुसार महिलाओं की जन्मकुंडली में बृहस्पति पति और संतान का कारक होता है। इस दिन अगर ऐसा करते हैं तो इसका बुरा असर बच्चे और पति पर पड़ता है। उनकी तरक्की रुक जाती है। 
  • गुरुवार के दिन बेवजह की खरीददारी न करें। ऐसा करने पर धन की वृद्धि रुक जाती है। 
  • इस दिन किसी से भी पैसों की लेनदेन न करें। ऐसा करने से धन संबंधित समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। 
  • किसी भी भिखारी को झूठा या फिर बासी खाना न दें। ऐसा करने पर घर में दरिद्रता का वास हो सकता है। 
  • गुरुवार के दिन कभी भी देर से सोकर नहीं उठें। ऐसा करने से भगवान नाराज हो जाते हैं। इससे व्यक्ति का भाग्य उसका साथ देना बंद कर कर सकता है। 

ऐसे करें बृहस्पति भगवान की पूजा

  • इस दिन सुबह उठकर स्नान करना चाहिए।
  • इस दिन पीले वस्त्र की पहनने चाहिए और पीले फलों का भी इस्तेमाल करना चाहिए। 
  • फल, फूल और पीले वस्त्र बृहस्पति भगवान को अर्पित करें। 
  • पूजा के बाद कथा जरूर पढ़ें।
  • पूजा में केले चढ़ाएं लेकिन इन्हें खुद न खाएं। लोगों को दान में दें।

गुरुवार के दिन करें इन मंत्रों का जाप

देवानां च ऋषीणां च गुरुं का चनसन्निभम।

बुद्धि भूतं त्रिलोकेशं तं नमामि बृहस्पितम।

ऊं ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरवे नम:। 

ऊं अंशगिरसाय विद्महे दिव्यदेहाय धीमहि तन्नो जीव: प्रचोदयात्।