Happy Sita Navami Wishes Quotes And messages: सीता नवमी के पावन पर्व पर आप भी अपनों को भेजें ये शुभकामना संदेश

माता सीता के प्राकट्य का महोत्सव वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को मनाया जाता है. सनातन संस्कृति में कई त्योहार मनाए जाते हैं. इन्हीं में से एक है जानकी नवमी (Janki Navami) जन्मोत्सव. हिंदू धर्म में इसका बहुत महत्‍व है. इस दिन को जानकी नवमी के नाम से भी जाना जाता है. इस दिन सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए व्रत (Vrat) रखती हैं और विधि-विधान से पूजा करती हैं.

जानकी नवमी के दिन पूरे विधि-विधान से भगवान राम और माता-सीता की पूजा की जाती है और व्रत रखा जाता है. इस बार सीता नवमी का शुभ मुहूर्त 20 मई को 12 बजकर, 25 मिनट पर प्रारंभ होगा और 21 मई को 11 बजकर, 10 मिनट पर समाप्त होगा. इस दिन प्रभु श्रीराम और माता सीता का पूजन एक साथ करने से मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं और मनोवांछित फल प्राप्‍त होता है. सीता नवमी के इस पावन अवसर पर लोग एक-दूसरे को बधाई देते हैं. आप भी अपने परिचितों, रिश्‍तेदारों और दोस्‍तों को सीता नवमी की शुभकामनाएं इन सुंदर संदेशों के साथ दे सकते हैं-

Get-Detailed-Customised-Astrological-Report-on

आज सीता नवमी का पावन त्योहार है

आज इस पवित्र अवसर पर जगमगा रहा संसार है
आप भी मां की आराधना में मन से हो जाओ लीन

आपकी हर मनोकामना होगी पूर्ण

सीता नवमी 2021 की शुभकामनाएं

पवित्रता, त्याग, समर्पण, साहस और धैर्य का है यह पर्व

इस पावन पर्व सीता जयंती की शुभकामनाएं

हर कोई मना रहा है माता सीता का जन्‍मोत्‍सव

आपको भी मिले उनका आशीर्वाद

धन-धान्य और खुशियों से भरा रहे जीवन

दूर हों बाधाएं पूर्ण हों मनोकामनाएं

सीता जयंती की ह्रार्दिक शुभकामनाएं

आप सबको जानकी नवमी की बहुत बधाई

आपके अपने सदा आपके निकट रहें भाई

लक्ष्मी स्वरूपा माता सीता आपके दुख करें दूर

सीता नवमी आपके लिए हो शुभ फलदायी

सीता जयंती की ह्रार्दिक शुभकामनाएं

जगत जननी मां जानकी के जन्‍मोत्‍सव पर

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

आप सभी को ह्रार्दिक शुभकामनाएं

प्रभु श्री राम की प्रिय हैं सीता माता

सबकी झोली भरती हैं जानकी माता

मां करती हैं सबकी इच्‍छाएं पूरी

मां के चरणों में बीते जीवन अपना

सीता नवमी 2021 की शुभकामनाएं

अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतhindi.news18.com
पिछला लेखVastu Tips: दक्षिण-पश्चिम दिशा की फर्श में कराएं पीला रंग, शुभ फलों की होगी प्राप्ति
अगला लेखMohini Ekadashi 2021 Date: मोहिनी एकादशी 22 या 23 मई को? जानें सही तिथि, सटीक मुहूर्त और पारण का समय