Home स्वास्थ्य ब्रेन के लिए पॉवर फूड है पिस्ता, तनाव को दूर रखने के...

ब्रेन के लिए पॉवर फूड है पिस्ता, तनाव को दूर रखने के साथ मिलते हैं ये फायदे

से तो सारे ही ड्राई फ्रूट्स सुपर फूड की कैटेगरी में आते हैं. लेकिन अगर हम पिस्‍ता (Pistachios) की बात करें तो ये ब्रेन (Brain) के लिए खासतौर पर फायदेमंद (Benefits) होता है. पिस्‍ता आपकी स्किन की समस्याओं को भी दूर करता है और इम्यूनिटी को भी बूस्‍ट करने में सक्षम है. आज हम बात करते हैं कि ब्रेन के लिए पिस्ता कितना फायदेमंद है. बता दें कि पिस्‍ता आपकी मस्तिष्क संबंधी कई परेशानियों को दूर करता है और मानसिक क्षमता के विकास में भी काफी फायदेमंद है. ओनलीमाईहेल्‍थ के मुताबिक, रोजाना पिस्ता के सेवन से स्मृति, एकाग्रता और सीखने की क्षमता का विकास होता है. यह सिरदर्द, सूजन और जलन की समस्या को भी कम करने में कारगर है. पिस्ता के सेवन से आप दिनभर फ्रेश और तनावमुक्त महसूस करते हैं.

अगर आप रात में दूध के साथ पिस्ता का सेवन करें तो नींद भी अच्छी आती है. पिस्‍ता के सेवन से हाई ब्लड प्रेशर भी नियंत्रित रह सकता है. बता दें कि पिस्ता में अमीनो एसिड, विटामिन-ए, के, सी, बी-6, विटामिन ई, प्रोटीन, कैल्शियम, मैंगनीज और फोलेट पाया जाता है जो मस्तिष्क के विकास के लिए बेहद महत्वपूर्ण है. तो आइए जानते हैं पिस्ता के फायदे और उपयोग का तरीका.

ब्रेन के लिए पिस्ता के फायदे

एंटीऑक्सीडेंट

एंटीऑक्सीडेंट तनाव को कम करने में भी मदद करता है. पार्किंसंस या अल्जाइमर रोगियों और न्यूरोलॉजिकल समस्‍या झेल रहे मरीजों को के लिए एंटीऑक्सीडेंट्स कई समस्‍याओं से बचा सकता है. ये ऑक्सीडेटिव तनाव को रोकता है और आपके मस्तिष्क को स्वस्थ रखता है. इसके अलावा, भूलने की समस्‍या को भी ये ठीक करता है.

विटामिन ए

पिस्ता मस्तिष्क और आंखों के लिए काफी अच्छा होता है और इसमें मौजूद विटामिन ए, एंटीऑक्सीडेंट ल्यूटिन और ज़ेक्सैन्थिन की मदद से आंखों और दिमाग की नसों को आराम मिल सकता है.

ओमेगा -3 फैटी एसिड

पिस्‍ता मस्तिष्क की एकाग्रता और क्षमता बढ़ाता है और स्मृति शक्ति और सीखने के कौशल को भी बढ़ावा देता है. इसमें पाया जाने वाले ओमेगा-3 फैटी एसिड आपके ब्रेन फंक्शन में सुधार लाता है. साथ ही सूजन और दर्द में आराम मिलता है.

विटामिन बी-6

पिस्ता में विटामिन बी-6 डोपामाइन बनाने के लिए महत्वपूर्ण है. डोपामाइन एक न्यूरोट्रांसमीटर है जो एकाग्रता में सहायता करता है. यह वृद्धावस्था में मस्तिष्क के स्वास्थ्य में सुधार कर सकता है. विटामिन ई बेहतर संज्ञान और अल्जाइमर रोग के जोखिम को कम करने में भी मदद करता है.

प्रोटीन

प्रोटीन कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से बचाता है और नयी कोशिकाओं के निर्माण में भी मदद करता है.

पिस्ता का ऐसे करें उपयोग

-रोज सुबह या शाम इसके छिलके को निकालकर सेवन करें.

-रेसिपीज के साथ गार्निश करके भी खाया जा सकता है.

-आप इसे सुबह पानी में भिगोकर भी खा सकते है.

-हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत हो तो रोस्टेट पिस्ता का सेवन न करें.

-पिस्ता हलवा बनाकर भी खा सकते है.

बरतें सावधानियां

डायबिटीज के मरीजों को पिस्ता का सेवन बेहद सीमित मात्रा में करना चाहिए.

डायरिया की समस्या में भी पिस्ता के सेवन से आपकी समस्या बढ़ सकती है.

पिस्ता के अधिक सेवन से एलर्जी और खुजली की दिक्कत हो सकती है.

अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

Exit mobile version