मुख्यमंत्री का भाषण लाइव होने पर खेद: CM केजरीवाल का ऑफिस

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के कार्यालय की तरफ से प्रधानमंत्री मोदी के साथ बैठक के दौरान सीएम के भाषण के मीडिया में प्रसारित होने को लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से खेद जताया गया है। मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से कहा गया है कि केंद्र सरकार की तरफ से किसी तरह का निर्देश नहीं दिया गया था कि मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्रियों के बीच की बात का टीवी पर सीधा प्रसारण नहीं हो सकता। मुख्यमंत्री कार्यालय के अनुसार पहले भी कई बार जनहित के इस तरह के जन आयोजनों का सीधा प्रसारण किया गया है। मुख्यमंत्री कार्यालय के अनुसार इसके बावजूद भी अगर कोई असुविधा हुई है तो उसके लिए खेद है।

astrologi report

कोरोना की वजह से 10 सबसे त्रस्त राज्यों के मुख्यमंत्रियों साथ पीएम मोदी की बैठक के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी से जो बातें कही हैं उन्हें टीवी चैनलों पर लाइव दिखाया गया है। जिसको लेकर आपत्ति जताई जा रही है। सरकारी सूत्रों के अनुसार पहली बार प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्रियों के बीच बैठकों की बातचीत को लाइव टीवी पर दिखाया गया है। सरकारी सूत्रों का कहना है कि अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी के साथ जो बातें कही वे राजनीति से प्रेरित और जिम्मेदारी से भागने वाली थीं।

rgyan app

पीएमओ के सूत्रों के अनुसार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना के मुद्दे पर पीएम-सीएम कॉन्फ्रेंस के मंच का इस्तेमाल राजनीति के लिए किया है। सूत्रों के अनुसार केजरीवाल ने तथ्य जानते हुए भी कांन्फ्रेंस के मंच से वैक्सीन की कीमत को लेकर झूठ फैलाया। सूत्रों के अनुसार दिल्ली के मुख्यमंत्री ने ऑक्सीजन को एयरलिफ्ट करने का मुद्दा उठाया लेकिन उन्हें पता नहीं था कि पहले से ही ऑक्सीजन एयरलिफ्ट की जा रही है। सूत्रों के अनुसार अरविंद केजरीवाल ने रेलवे की ऑक्सीजन एक्सप्रेस के बारे में बातें कही लेकिन रेलवे का कहना है कि इसको लेकर उनके साथ दिल्ली के मुख्यमंत्री की तरफ से कोई संपर्क नहीं किया गया। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखचाणक्य नीति: इस तरह से कमाए गए धन को हमेशा त्याग देना चाहिए, नहीं तो होगा पछतावा
अगला लेखभारत में 15 मई तक उपचाराधीन मरीजों की संख्या 33 से 35 लाख तक हो सकती है: आईआईटी वैज्ञानिक