ब्लड शुगर कंट्रोल करता है इंसुलिन का पौधा, जानिए कोक्टस पिक्टस की पत्तियों का कैसे करें इस्तेमाल

भारत में सबसे ज्यादा डाइबिटीज के मरीज हैं, ये एक ऐसी बीमारी है जो एक बार हो गई तो आप को जिंदगी भर इसका असर झेलना पड़ता है। लेकिन एक ऐसा पौधा है जिसकी पत्तियां चबाकर आप काफी हद तक अपना शुगर कंट्रोल कर सकते हैं। तभी इस पौधे को इंसुलिन पौधा बुलाया जाता है। इंसुलिन प्लांट्स का आयुर्वेद में काफी महत्व है। इसका वैज्ञानिक नाम कोक्टस पिक्टस है। इसे क्रेप अदरक, केमुक, कुए, कीकंद, कुमुल, पकरमुला और पुष्करमूला जैसे नामों से भी जाना जाता है। इसकी पत्तियों का टेस्ट खट्ट होता है, इसका सेवन करके ब्लड शुगर कंट्रोल किया जाता है।

सिर्फ शुगर ही नहीं खांसी, जुकाम, स्किन इंफेक्शन, आंखों का इंफेक्शन, फेफड़ों की बीमारियां, दमा, गर्भाशय संकुचन, दस्त, कब्ज आदि बीमारियों में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है।

इंसुलनि के पौधे की दो पत्तियों को पीसकर एक गिलास पानी में घोलकर सुबह-शाम नियमित रूप से सेवन करने पर डाइबिटीज की बीमारी से राहत मिलती है।

हिमालयी क्षेत्रों में इसकी खेती होती है, भारत समेत कई अन्य देशों में इस पौधे को लेकर शोध चल रहे हैं। इसकी जैव प्रौद्योगिकी नर्सरी भी तैयार की जा रही है।

अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखSheetala Ashtami 2022: कब है शीतला अष्टमी या बसोड़ा? जानें पूजा का शुभ मुहूर्त एवं महत्व
अगला लेखदैनिक राशिफल 24 मार्च 2022: वृश्चिक राशि वालों का दिन रहेगा शानदार, कर्क राशि वाले रखें इस बात का ध्यान