Karwa Chauth 2020: आपके शहर में कब निकलेगा चांद, अर्घ्य देने का सही तरीका भी जानें

विवाहित महिलाएं आज करवा चौथ (Karwa chauth 2020) का उपवास कर रही हैं. इस दिन महिलाएं पति की लंबी उम्र के लिए पूरे दिन निर्जला व्रत रखती हैं. सूर्योदय से लेकर चंद्रोदय तक यह व्रत बिना कुछ खाए-पिए किया जाता है, जो काफी कठिन है. चंद्र दर्शन करने के बाद ही महिलाएं कुछ ग्रहण करती हैं. भौगोलिक विविधता के कारण चंद्रोदय हर स्थान पर अलग-अलग समय होता है. आइए आपको बताते हैं कि आपके राज्य या शहर में आज चंद्रमा कितने बजे दिखेगा. आइए जानिए राम मंदिर परिसर के निर्माण में आप भी बन सकते हैं भागीदार.

दिल्ली- रात 8:11 बजे, नोएडा- 08:12 बजे, गुरुग्राम- रात 08:13 बजे, चंड़ीगढ़- रात 08:09 बजे, जयपुर- रात 08:22 बजे.

लखनऊ- रात 8:04 बजे, वाराणसी- शाम 7:58 बजे, कानपुर- रात 8:07 बजे, गोरखपुर- रात 8:09 बजे, प्रयागराज- रात 8:02 बजे, बरेली- रात 8:08 बजे, आगरा- रात 8:16 बजे, मेरठ- रात 8:14 बजे, फैजाबाद- शाम 7:59 बजे, झांसी- रात 8:18 बजे, देहरादून- रात 8:10 बजे, गया- शाम 7:21 बजे और मुजफ्फरनगर- शाम 7:47 बजे.

भागलपुर- शाम 7:42 बजे, रांची- शाम 7:52 बजे, गुजरात- रात 8:44 बजे, ओडिशा- शाम 7:55 बजे, कोलकाता- शाम 07:40 बजे, पश्चिम बंगाल- शाम 7:45 बजे, चेन्नई- रात 8:32 बजे, बैंगलोर- रात 8:40 बजे, चेन्नई- रात 08:33 बजे, हैदराबाद- रात 8:33 बजे, कोयंबटूर- रात- 8:45 बजे, पुणे- रात 08:49 बजे और मुंबई- रात 08:52 बजे.

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

अगर पति पत्नी के बीच में बेवजह झगडा होता हो तो जल में ढेर सारे सफेद फूल डालकर अर्घ्य दें. अगर पति पत्नी के बीच में प्रेम कम हो रहा है तो जल में सफेद चंदन और पीले फूल डालकर अर्घ्य दें. अगर पति पत्नी के स्वास्थ्य के कारण वैवाहिक जीवन में बाधा आ रही हो तो पति-पत्नी एक साथ चन्द्रमा को अर्घ्य दें. जल में जरा सा दूध और अक्षत डालें. अगर नौकरी के कारण या जीवन में किसी अन्य कारण से पति पत्नी के बीच में दूरियां हों तो चन्द्रमा को शंख से जल अर्पित करें. जल में इत्र डालकर अर्घ्य दें. Reach out to the best Astrologer at Jyotirvid.

करवा चौथ का एक विशेष मंत्र भी है जिसे रात के समय चंद्रमा दर्शन के वक्त पढ़ा जाता है. ये मंत्र है- ”सौम्यरूप महाभाग मंत्रराज द्विजोत्तम, मम पूर्वकृतं पापं औषधीश क्षमस्व मे।अर्थात हे! मन को शीतलता पहुंचाने वाले, सौम्य स्वभाव वाले ब्राह्मणों में श्रेष्ठ, सभी मंत्रों एवं औषधियों के स्वामी चंद्रमा मेरे द्वारा पूर्व के जन्मों में किए गए पापों को क्षमा करें. और अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here