भगवान केदारनाथ की उत्सव डोली के लिए 29 को खुलेंगे कपाट…

उखीमठ भगवान केदारनाथ की उत्सव डोली सादे कार्यक्रम के साथ केदारनाथ के लिए रवाना हो गई। रविवार सुबह उखीमठ के ओंकारेश्वर मंदिर से परंपरागत पूजा के बाद उत्सव डोली और डोली के साथ चल रहे पुजारी सड़क मार्ग से वाहनों में बैठ कर केदारनाथ के लिए रवाना हुए। इससे पूर्व शनिवार को शीतकालीन गद्दीस्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में रात्रि को भैरव पूजा हुई। रविवार को श्री केदारनाथ भगवान की पंचमुखी डोली उखीमठ से बहुत कम संख्या में तीर्थ पुरोहितों, प्रशासन एवं देवस्थानम बोर्ड के कर्मियों के साथ केदारनाथ धाम के लिए प्रस्थान हुई।

अक्षय तृतीया पर ही खुलता है बिहार का यह बदरीनाथ मंदिर, जानिए खास बातेंकोरोना महामारी के संक्रमण को देखते हुए उत्सव यात्रा का फाटा गांव का रात्रि प्रवास रद्द कर पहले दिन सीधे गौरीकुंड पहुंचेगी। सोमवार को लिंचोली तथा 28 अप्रैल शाम को डोली श्री केदारनाथ धाम पहुंचेगी। 29 अप्रैल को प्रात: 6 बजकर 10 मिनट पर श्री केदारनाथ मंदिर के कपाट खुल जाएंगे। जिला प्रशासन के निर्देशों के आधार पर उत्सव यात्रा में केवल 16 लोगों को ही केदारनाथ जाने की अनुमति है।

जबकि श्री बदरीनाथ धाम के कपाट 15 मई प्रात: 4 बजकर 30 मिनट पर खुलेंगे। पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर के अनुसार, उत्तराखंड चारधाम के कपाट खुलने के पश्चात परिस्थितियों का आकलन कर उच्च स्तर से प्राप्त निर्देशों के अनुसार यात्रा चल सकेगी। डोलियों के धामों के प्रस्थान एवं कपाट खुलने की व्‍यवस्थाओं हेतु आयुक्त गढ़वाल/ सीईओ उत्तराखंड चार धाम देवस्थानम बोर्ड रमन रविनाथ के द्वारा उचित दिशा निर्देश जारी किए गए हैं।