वैशाख पूर्णिमा के दिन भारत में किस समय नजर आएगा इस साल का आखिरी सुपरमून

वैशाख मास की पूर्णिमा को बुद्ध पूर्णिमा के साथ-साथ साल का आखिरी सुपरमून भी दिखेगा। इस दिन चंद्रमा सामान्य आकार से कई गुना बड़ा दिखाई देगा। इस बारे में वैज्ञानिकों का मानना है कि 7 मई को सुपरमून नजर आएगा। अगर इस बार चूक गए तो आपको 27 अप्रैल 2021 तक इंतजार करना होगा। आपको बता दें कि इसी साल अप्रैल में ‘पिंक मून’ दिखा था। इस बार यह सुपरमून गुरुवार को पड़ रहा है। इसके कारण इसका नाम ‘सुपर फ्लावर मून’ रखा गया है। नासा के वैज्ञानिको का मानना है कि इस बार सुपरमून काफी समय तक रहेगा। 7 मई को दिखने वाला ये सुपरमून गुरुवार से लेकर शुक्रवार तक दिखाई देगा।

यह भी पढ़े: 205 साल बाद बुद्ध पूर्णिमा पर मंगल, शनि और राहु-केतु का योग, उस समय नहीं थी गुरु-शनि की

सुपरमून फ्लावर मून नाम रखने की वजह
वैज्ञानिकों के पीछे इसे सुपर फ्लावर मून नाम देने के पीछे वजह है। दरअसल यह सुबह के समय दिखाई देगा। वह समय फूलों के खिलने का होता है।

भारत में कब दिखाई देगा सुपरमून
‘ट्रैवल प्लस लीज़र’ की रिपोर्ट के अनुसार ये 7 मई को दिखने वाले सुपरमून का ग्लोबल टाइम सुबह 6 बजकर 45 मिनट बताया जा रहा है। वहीं भारतीय समयनुसार यह सुपरमून  शाम को तकरीबन सवा 4 बजे दिखना शुरू हो जाएगा। इस बार सुपरमून का रंग शुरुआत में गुलाबी होगा। इसके बाद हल्का ऑरेंज और पीला होगा।

इस बार क्यों खास है सुपरमून
आपको बता दें कि जब सुपरमून होता है तो इसका आकार काफी बड़ा होता है। पृथ्वी से चंद्रमा की दूरी 3,84,400 किलोमीटर होती है, लेकिन इस दिन यह दूरी घटकर 3,61,184 किलोमीटर रह जाएगी।  इस दिन चंद्रमा का आकार करीब 14 प्रतिशत बड़ा होने के साथ 30 प्रतिशत अधिक चमक होगी।  

अगला सुपरमून कब? 
अगला सुपरमून 27 अप्रैल 2021 को नजर आएगा।