लॉकडाउन में मोबाइल पर ज्यादा वक्त बिताने रहे लोगो को, भुगतने पड़ सकते हैं ये 5 नुकसान

लॉकडाउन के दौरान ज्यादातर लोगों का रूटीन बिगड़ गया है। घर से ऑफिस की लंबी शिफ्ट करना और उसके बाद वेब सीरीज और फिल्मों को देखते-देखते बे-टाइम सोना। कुछ लोग तो ऐसे भी हैं जो इस वक्त महज दो से तीन घंटे की नींद ही ले रहे हैं। अगर आप भी रोजाना इस तरह ही दिन बिता रहे हैं तो ये आपकी सेहत के लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि एक तो लंबी शिफ्ट करके आंखों पर स्ट्रेस पड़ रहा है। दूसरा घर से काम कर रहे हैं तो लेटकर-बैठकर किसी भी तरह से अपने आपको दिनभर एडजस्ट करने में लगे रहते हैं। जिसकी वजह से कमर में दर्द होना लाजमी है। ऊपर से रोजाना नींद पूरी न करना रही कसर भी पूरी कर रहा है। किसी भी व्यक्ति को रोजाना 6 से 8 घंटे की नींद लेना जरूरी होता है। जानिए नींद न लेने से शरीर पर क्या बुरा असर पड़ता है। 

पूरी नींद न लेने की वजह से स्मरण शक्ति पर असर पड़ता है। यानी कि आपकी याददाश्त कमजोर होने का खतरा हो सकता है। इसलिए अगर आप नींद को दांव पर लगाकर मोबाइल पर ज्यादा वक्त बिता रहे हैं तो ऐसा करना आज ही बंद कर दीजिए। 

लॉकडाउन के दौरान एक तो वैसे भी कई लोग बाहर न निकल पाने की वजह से परेशान हैं। जिसकी वजह से तनाव महसूस कर रहे हैं। ऊपर से पूरी नींद न लेना तनाव को और भी बढ़ा सकता है। 

पर्याप्त नींद न लेने से पाचन शक्ति कमजोर हो जाती है। जिसकी वजह से पेट साफ नहीं होता। पेट साफ न होने से शरीर में कई और बीमारियां हो सकती हैं। 

पूरी नींद लेने से शरीर को आराम मिलता है। लेकिन अगर आप नहीं सो रहे हैं तो आपको दिनभर थकान महसूस होगी जो सेहत पर बुरा प्रभाव डालेगी।

पूरी नींद न लेने से दिनभर आपको चिड़चिड़ापन भी रहेगा। इसके अलावा सिर का भारी होना भी स्वाभाविक है।