Lockdown in Delhi: दिल्ली में एक हफ्ते के लिए बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन- सूत्र

राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण में प्रसार को रोकने के लिए अरविंद केजरीवाल सरकार लॉकडाउन को एक हफ्ते के लिए बढ़ा सकती है। इस बार में आज ही फैसला होने की संभावना है। सूत्रों का कहना है कि दिल्ली सरकार के पास लॉकडाउन बढ़ाने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है। इससे पहले अरविंद केजरीवाल सरकार ने 1 मई को हफ्ते भर के लिए लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान किया था। आपको बता दें कि कोविड-19 के मामलों में लगातार तेज बढ़ोतरी के कारण 10 मई तक दिल्ली में लॉकडाउन लागू है।

Get-Detailed-Customised-Astrological-Report-on

ये सुविधाएं दे रही है दिल्ली सरकार

निर्माण मजदूरों को पांच हजार रुपये की सहायता- दिल्ली सरकार ने पिछले दिनों बताया था कि राष्ट्रीय राजधानी के करीब 11000 और निर्माण मजदूरों ने भवन एवं अन्य निर्माण कर्मचारी कल्याण बोर्ड में पंजीकरण कराया है और उन्हें आने वाले दिनों में एक बार पांच हजार रुपये की सहायता मिलेगी। दिल्ली उन पंजीकृत मजदूरों को आर्थिक सहायता उपलब्ध करा रही है जो कोरोना वायरस के कारण लगाए गए लॉकडाउन की वजह से रोज़ी-रोटी के संकट का सामना कर रहे हैं। डिप्टी सीएम सिसोदिया के दफ्तर से जारी बयान के मुताबिक कुल 2,10,684 निर्माण मजदूरों को सहायता देने का लक्ष्य रखा गया है। इनमें से दो लाख को पहले ही आर्थिक मदद दी जा चुकी है जिस पर 100 करोड़ रुपये की रकम खर्च हुई है। बयान में कहा गया है कि 11,000 मजदूरों को आने वाले दिनों में मदद की जाएगी।

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

राशन कार्डधारकों को मुफ्त राशन- दिल्ली सरकार अगले दो माह के लिए राष्ट्रीय राजधानी में 72 लाख राशन कार्डधारकों को मुफ्त राशन देगी। खुद सीएम अरविंद केजरीवाल ने इसकी घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि दिल्ली में 72 लाख राशन कार्डधारकों को अगले दो महीने तक निशुल्क राशन दिया जाएगा।
ऑटो और टैक्सी चालकों को पांच-पांच हजार रुपये की आर्थिक सहायता- दिल्ली सरकार की तरफ से पिछले हफ्ते ऐलान किया गया था कि ऑटो रिक्शा एवं टैक्सी चालकों को 5,000-5,000 रुपये की आर्थिक सहायता की जाएगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि दिल्ली सरकार ने पिछले साल लॉकडाउन के दौरान 1.56 लाख ऑटो और टैक्सी चालकों में से प्रत्येक को पांच-पांच हजार रुपये की वित्तीय सहायता दी थी और इस बार भी उनकी मदद करेगी। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here