घर में इस जगह पर रखें भगवान बुद्ध की प्रतिमा, बढ़ेगी सुख-समृद्धि

घर में सुख-समृद्धि और खुशियों के आगमन के लिए लोग क्या नहीं करते लेकिन फिर भी स्थिति में सुधार नहीं होता. वास्तु शास्त्र में हर चीज के निर्माण और रख रखाव के बारें में सही दिशा और नियम बताए गए हैं. वास्तु के नियमों को ध्यान में न रखने से वास्तु दोष उत्पन्न होता है जिससे घर में नकारात्मक ऊर्जा (Negative Energy) का प्रवाह होने लगता है. साथ ही जीवन में समस्याएं आने लगती हैं और तरक्की (Success) में बाधा उत्पन्न होती है. वास्तु शास्त्र में कुछ ऐसी बातें बताई गई हैं जिनको ध्यान में रखकर आप घर से नेगेटिविटी को दूर करके सफल हो सकते हैं. साथ ही आपकी किस्मत बदल सकती है और घर से अशांति दूर होकर सुख और समृद्धि का विस्तार होता है. ऐसे में आप घर में भगवान बुद्ध की प्रतिमा रख सकते हैं. भगवान बुद्ध की प्रतिमा को आप साज-सजावट के तौर पर अपने घर में लगा सकते हैं. इससे न केवल आपके घर की खूबसूरती बढ़ती है बल्की आपको मानसिक शांति भी प्राप्त होती है. साथ ही आपके घर में सुख-समृद्धि और खुशियां बनी रहती हैं. आइए आपको बताते हैं कैसे और किस जगह पर भगवान बुद्ध की प्रतिमा लगाकर आपको लाभ मिल सकता है.

Get-Detailed-Customised-Astrological-Report-on

घर का मुख्य दरवाजा

वास्तु के अनुसार, घर के मुख्य दरवाजे पर रक्षा मुद्रा में बुद्ध की मूर्ति को स्थापित करना चाहिए. रक्षा मुद्रा भी जहां भगवान बुद्ध का एक हाथ आशीर्वाद के रूप में रहता है तो वहीं दूसरा हाथ रक्षार्थ होता है. दरवाजे पर भगवान बुद्ध की प्रतिमा को जमीन से लगभग चार फुट ऊपर किसी सुंदर से स्टैंड पर लगाना चाहिए. कहते हैं कि इससे शत्रुओं का विनाश होता है.

लिविंग रूम

वास्तु के अनुसार घर के लिविंग रूम में दाईं ओर झुके हुए बुद्ध की प्रतिमा लगानी चाहिए. प्रतिमा को इस तरह से लगाएं कि भगवान बुद्धि का मुख पश्चिम दिशा की ओर रहे. आप इसे किसी टेबल या स्टूल पर रख सकते हैं. इससे आपके घर में शांति रहेगी और खुशियों का आगमन होगा. मानसिक रूप से शांत महसूस करने के लिए लिविंग रूम में भगवान बुद्ध की प्रतिमा जरूर रखें. इससे घर में समृद्धि भी बनी रहती है.

पूजा के स्थान पर

भगवान बुद्ध की प्रतिमा को मंदिर में भी रखा जा सकता है. इससे आपको पूजा के समय ध्यान लगाने में मदद मिलेगी. वास्तु के अनुसार घर के मंदिर में भगवान बुद्ध की प्रतिमा को पूर्व की ओर मुख करके रखें. साथ ही इस बात का ध्यान भी रखें की प्रतिमा आपकी आंखों के स्तर तक रहे. इससे नीचे रखना शुभ नहीं होता. घर के मंदिर में भगवान बुद्ध की प्रतिमा रखने से सकारात्मकता बढ़ती है और मानसिक शांति का अनुभव होता है.

बच्चों के रूम में रखें

भगवान बुद्ध की प्रतिमाएं विभिन्न मुद्राओं में मिलती हैं. इन मुद्राओं का अलग-अलग अर्थ होता है. वास्तु के अनुसार बच्चों के कमरे में उनके पढ़ने के टेबल पर भगवान बुद्ध की मूर्ति पूर्वमुखी करके रखना चाहिए. बच्चों के रूम में लेटे हुए विश्राम मुद्रा में या छोटे सिर वाली बुद्ध की प्रतिमा भी रखी जा सकती है. इससे पढ़ाई करते समय ध्यान केंद्रित रहता है जिससे सफलता मिलने की संभावना बढ़ती है.

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

घर के बगीचे में

अगर आपने घर में बगीचा बना रखा है तो वहां पर भी आप बुद्ध की प्रतिमा लगा सकते हैं. वास्तु के अनुसार, बगीचे में एक साफ स्थान पर ध्यान मुद्रा वाली बुद्ध की प्रतिमा लगानी चाहिए. इससे बगीचे में टहलते या ध्यान लगाते समय आप ज्यादा अच्छा महसूस करते हैं और आपको मानसिक रूप से शांति प्राप्त होती है. यह उन लोगों के लिए बहुत फायदेमंद रहता है जिन्हें किसी प्रकार का तनाव हो या फिर वह डिप्रेस्ड महसूस कर रहे हों. अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतhindi.news18.com
पिछला लेखBitcoin की कीमतें लुढ़ककर 30,000 डॉलर पर, दूसरी Cryptocurrencies में भी गिरावट! क्या यह खरीदारी का सही समय है?
अगला लेखक्या डेल्टा प्लस की वजह से आएगी कोरोना की तीसरी लहर, जानें क्या कहते हैं केंद्र के एक्सपर्ट पैनल के चीफ