UP Chunav: पहले दो चरण का चुनावी गणित- 113 सीटों पर 127 मुस्लिम उम्मीदवार, चौंकाने वाले हो सकते हैं परिणाम

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Vidhan Sabha Chunav) में पहले दो चरण के मतदान के लिए 20 जिलों में चुनावी रणभेरी बज चुकी है. पहले चरण का मतदान 10 फरवरी तो दूसरे चरण की वोटिंग 14 फरवरी को होना है. दोनों चरणों के लिए सभी सियासी दलों ने पूरी ताकत झोंक दी है. लेकिन सबसे दिलचस्प बात यह है कि दोनों ही चरणों में मुस्लिम वोटरों (Muslim Voters) की भूमिका अहम रहने वाली है. यही वजह है कि बीजेपी को छोड़कर सभी दलों ने भारी संख्या में मुस्लिम प्रत्याशियों पर दांव खेला है. मुस्लिम प्रत्याशियों को मैदान में उतारने की एक वजह यह भी है कि कई सीटों पर मुस्लिम वोटर निर्णायक भूमिका में हैं, जो चुनावी नतीजों को प्रभावित करने का माद्दा रखते हैं.

पहले दो चरणों में पश्चिम यूपी के 113 सीटों पर मतदान होना है और 127 मुस्लिम प्रत्याशी मैदान में हैं. पहले चरण में 11 जिलों की 58 और दूसरे चरण में 9 जिलों की 55 विधानसभा सीटों के लिए मतदान होगा. इन सभी सीटों पर सपा-रालोद गठबंधन, बसपा, कांग्रेस और असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ने जमकर मुस्लिम प्रत्याशियों को मैदान में उतारा है. पहले चरण में 50 तो दूसरे चरण में 77 मुस्लिम उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं.

इन दलों ने इतने मुस्लिमों को दिया टिकट

पहले चरण के लिए सपा-रालोद गठबंधन ने 13, बसपा 17, कांग्रेस के 11 और AIMIM के 9 मुस्लिम उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं. वहीं दूसरे चरण में सपा-रालोद गठबंधन की तरफ से 18 बसपा के 23, कांग्रेस के 21 और AIMIM की तरफ से 15 उम्मीदवार मैदान में हैं. अगर 2017 के विधानसभा चुनावों की बात करे तो पहले चरण की 58 सीटों में से बीजेपी को 53 तो दूसरे चरण की 55 सीटों में से 38 सीटें बीजेपी की झोली में गई थी.

विपक्ष ने मुस्लिमों पर जताया भरोसा

यही वजह है कि बीजेपी ने एक भी मुस्लिम प्रत्याशी को मैदान में न साफ संदेश दिया है कि वह अपने हिंदुत्व के मुद्दे पर अडिग है. जबकि अन्य विपक्षी दलों ने मुस्लिम वोटरों की निर्णायक भूमिका को देखते हुए मुस्लिम उम्मीदवारों पर दांव खेला है. 10 मार्च को जब यूपी विधानसभा चुनावों के परिणाम आएंगे तो पता चलेगा कि किस पार्टी की रणनीति कारगर रही. अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतindia.news18.com
पिछला लेखकोरोना केस: 24 घंटे में 83 हजार 876 नए मामलों की पुष्टि, 895 मरीजों की हुई मौत
अगला लेखदैनिक राशिफल 8 फरवरी 2022: वृश्चिक राशि वाले जातकों को मिलेगी कोई अच्छी खबर, वहीं इन्हें सतर्क रहने की है जरूरत